छत्तीसगढ़

कलेक्टर धावड़े ने दिव्यांग बच्चों को मर्म स्पर्श कर लिया बौद्धिक विकास की जानकारी

हितेश दीक्षित:

गरियाबंद: कलेक्टर श्याम धावड़े जिला मुख्यालय से लगे ग्राम कोकड़ी में संचालित एसआरसी सेन्टर पहुंचे। उन्होंने यहां पर दृष्टिबाधित, श्रवणबाधित और मानसिक विकलांग बच्चों के शैक्षणिक एवं बौद्धिक विकास की जानकारी ली।

पहली बार किसी कलेक्टर को अपने बीच पाकर बच्चे प्रफुल्लित हुए। उन्होंने अपने तरीके से कलेक्टर का अभिवादन किया। कलेक्टर के कहने पर कक्षा आठवीं में अध्ययनरत दृष्टि बाधित छात्रा कुमारी संतोषी ने ब्रेल लिपी के माध्यम से फर्राटेदार पाठ पढ़कर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया।

दिव्यांगजनों के प्रति सेवाभाव रखने वाले जिले के संवेदनशील कलेक्टर धावड़े इससे काफी प्रभावित हुए। उन्होंने अन्य बच्चों से भी उनकी शैली में ही उनका ज्ञान परखा और बच्चों का हौसला आॅफजाई किया। केन्द्र की अधीक्षिका शीला यादव ने अवगत कराया कि केन्द्र में 45 दिव्यांग बच्चे अध्ययनरत है।

उन्होंने इन बच्चों के पठन-पाठन के लिए अतिरिक्त कमरे और खेल मैदान की ओर कलेक्टर की ओर ध्यान आकृष्ट किया। कलेक्टर धावड़े ने दिव्यांग बच्चों के लिए बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने का भरोसा दिलाते हुए मौंके पर उपस्थित उप संचालक समाज कल्याण मार्को को एस.आर.सी सेन्टर से लगे जमीन को खेल मैदान के रूप में विकसित करने निर्देशित किया।

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: