कलेक्टर ने ली समय सीमा के अंतर्गत अधिकारियों की बैठक

मनीष शर्मा

मुंगेली।

कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने आज गुरूवार को कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में समय सीमा के अंतर्गत अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय कार्यो की समीक्षा की। उन्होने बैठक में सभी अधिकारियों को मुख्यालय में रहने के निर्देश दिये तथा विभागीय कार्यो को गंभीरता एवं पूरी पारदर्शिता के साथ करने निर्देशित किया। कलेक्टर ने विभागवार भूमिपूजन, लोकार्पण एवं सामग्री वितरण की जानकारी ली।

कलेक्टर ने बैठक में समस्त अधिकारियों के नाम मुंगेली जिले के वोटर लिस्ट में जोड़ने निर्देश दिये। उन्होने लोकसभा निर्वाचन 2019 के कार्यो को गंभीरता से करने निर्देशित किया। कलेक्टर ने जिले में पेयजल व्यवस्था की जानकारी ली तथा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों एवं कार्यपालन अभियंता पीएचई को पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित करने निर्देश दिये।

उन्होने उपसंचालक कृषि से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के क्रियान्वयन की जानकारी ली तथा आवश्यक निर्देश दिये। उन्होने दो माह का पीडीएस भण्डारण की जानकारी ली तथा 25 फरवरी तक धान उठाव करने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये। कलेक्टर ने वन अधिकार पत्र, पलायन एवं लोक सेवा गारंटी अधिनियम के कार्यो की जानकारी ली तथा समय सीमा में निराकरण करने निर्देश दिये। उन्होने जिला शिक्षा अधिकारी को बोर्ड परीक्षा के लिए काल सेंटर चालू करने कहा। उन्होने लोरमी विकासखण्ड के ग्राम झिरिया में चल रहे कार्यो की जानकारी ली।

नरवा, गरूवा, घुरूवा अऊ बाड़ी के संबंध में दिए निर्देश

कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने आज कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी सुराजी गांव योजना के संबंध में अधिकारियों की बैठक लेकर कार्यो की समीक्षा की। उन्होने अधिकारियों से सुराजी गांव योजना के क्रियान्वयन के संबंध में गहन विचार विमर्श किया।

उन्होने संबंधित अधिकारियों से कहा कि जिले के तीनों विकासखण्डों में नरवा, गरूवा, घुरूवा अऊ बाड़ी के लिए स्थानों को चिन्हित कर योजना का क्रियान्वयन करें। कलेक्टर ने गांवों में गोठान, पशुओं के लिए शेड निर्माण, गेट निर्माण, चबूतरा एवं पानी टंकी निर्माण के लिए आवश्यक निर्देश दिये। उन्होने योजना को मूर्तरूप देने ग्रामीणों को जागरूक करने जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर ने सुराजी गांव योजना के क्रियान्वयन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी।

उन्होने शासन द्वारा निर्धारित मापदण्ड एवं गतिविधियों के संबंध में जानकारी दी। जल संसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता ने जिले के तीनों विकासखण्डों में सुराजी गांव योजना के तहत चिन्हित होने वाले गांवों के लिए जल प्रबंधन के संबंध में अवगत कराया। कलेक्टर ने चारागाह विकास कार्यक्रम के लिए पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।

उन्होने नरवा, गरूवा, घुरूवा एवं बाड़ी योजनांतर्गत जल संवर्धन हेतु संरचना एवं लाभान्वित होने वाले ग्रामों की जानकारी ली। कलेक्टर ने सहायक संचालक उद्यानिकी से कहा कि बाड़ी कार्यक्रम के अंतर्गत गांवों में किसानों को साग, भाजी की खेती एवं फलदार पौधे लगाने के लिए प्रोत्साहित करें।

शिक्षकों को शाला से बाहर कार्यक्रमों में सम्मिलित नहीं करने निर्देश

कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने शिक्षा की गुणवत्ता एवं नियमित अध्यापन की दृष्टि से स्कूली छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों को शैक्षणिक कार्य के अतिरिक्त अन्य किसी कार्य में शाला से बाहर कार्यक्रमों में सम्मिलित नहीं करने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये। यदि शासकीय योजनाओं, कार्यक्रमों एवं जनजागरूकता संबंधी कोई जानकारी देनी हो तो शाला अवधि में ही निर्धारित कालखण्डों में देने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। यदि अत्यावश्यक हो तो अनुमति प्राप्त करने के उपरांत ही शाला के बाहर कार्यक्रमों में सम्मिलित करें।

Back to top button