भारत अमेरिका के बीच ‘COMCASA समझौता,चीन और पाकिस्तान की बढ़ी मुसीबत

2 प्लस 2 वार्ता के दौरान हुआ समझौते पर साइन

नई दिल्ली। दोनो देशों के बीच 2 प्लस 2 वार्ता के दौरान समझौते पर साइन किए गए हैं। इसमें चीन की ओर से बढ़ने वाली हर पनडुब्बी पर अब भारतीय सेना की नजर होगी।

इतना ही नहीं भारतीय नौसेना को चीनी जहाजों की सटीक गति और लाइव वीडियो भी मिल सकेगी। यह सभी जानकारियां भारत को अमेरिका द्वारा दी जाएगी और यह संभंव भो पाया है, भारत अमेरिका के बीच हुए ‘COMCASA समझौते’ की बदौलत।

कोमकासा (कम्यूनिकेशन कम्पैटिबिलिटी एंड सिक्योरिटी एग्रीमेंट) पर हस्ताक्षर हुए हैं। इस करार के तहत दोनों देशों की सेनाएं एक दूसरे के युद्धपोत और लड़ाकू जहाजों के बीच के कम्युनिकेशन यानि संचार प्रणाली का इस्तेमाल कर सकते हैं और खुफिया जानकारी एक दूसरे से साझा भी कर सकते हैं.

चीन और पाकिस्तान पर निगरानी रखने में मिलेगी मदद

इसके मायने ये हैं कि भारत को अमेरिका के जरिए चीन और पाकिस्तान पर निगरानी रखने में मदद मिलेगी. इसके मतलब ये हैं कि अगर अमेरिका का कोई युद्धपोत समंदर में किसी चीनी जहाज को इंटरसेप्ट करता है तो इसकी जानकारी तुरंत भारतीय नौसेना को लग जायेगी.

लेकिन ये संचार प्रणाली सिर्फ अमेरिकी मिलिट्री प्लेटफार्म्स तक ही सीमित रहेगी. यानि भारत जिन अमेरिकी समुद्री जहाज और लड़ाकू विमानों को इस्तेमाल करता है उस तक ही कम्युनिकेशन और इंटेलीजेंस का आदान-प्रदान हो पाएगा.

ये इसलिए किया गया है क्योंकि भारत रूस और दूसरे देशों के जंगी जहाज, पनडुब्बी और फाइटर एयरक्राफ्ट भी इस्तेमाल करता है. अगर भारत चाहे तो स्वदेशी मिलिट्री हार्डवेयर में इसका इस्तेमाल कर सकता है.

Tags
Back to top button