ककनार से एरपुण्ड के बीच बन रही सड़क का निरक्षण करने पहुंचे – कलेक्टर और एसपी

जगदलपुर : लोहण्डीगुड़ा विकासखण्ड में इंद्रावती नदी के किनारे ऊंची-ऊंची पहाड़ियों के गोद में बसे गांव ककनार से लेकर एरपुण्ड तक प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बन रही सड़क का जायजा कलेक्टर धनंजय देवांगन ने मंगलवार को लिया। इस अवसर पर उनके साथ पुलिस अधीक्षक डी. श्रवण भी मौजूद थे।

कलेक्टर देवांगन ने धर्माबेड़ा तक निर्माणाधीन सड़क का जायजा लिया और धर्माबेड़ा में ही चैपाल लगाकर ग्रामीणों से चर्चा की और यहां शासन द्वारा संचालित योजनाओं के तहत ग्रामीणों को मिल रहे लाभ के संबंध में चर्चा की।

कलेक्टर ने इस क्षेत्र को कृषि कार्य हेतु संभावनाओं से भरा बताया और कहा कि इस क्षेत्र में भूमि सुधार के कार्य अधिक से अधिक संख्या में किए जाने की आवश्कता है, जिससे उपज बढ़ सके। उन्होंने कहा कि इससे कृषकों की आय बढ़ेगी। उन्होंने इस क्षेत्र में जल संरक्षण के लिए भी अधिक से अधिक कार्य किए जाने की आवश्यकता बताई, जिससे किसानों को पूरे वर्ष भर सिंचाई हेतु जल उपलब्ध हो सके। कलेक्टर ने यहां आंगनबाड़ी के माध्यम से दी जाने वाली सेवाओं के साथ ही स्वास्थ्य सुविधा एवं शैक्षणिक संस्थानों के संचालन के संबंध में भी ग्रामीणों से जानकारी ली।

इस अवसर पर ग्रामीणों ने चर्चा के दौरान क्षेत्र में बन रहे सड़क के लिए ग्रामीणों द्वारा आभार व्यक्त किया गया। ग्रामीणों ने कहा कि इस सड़क के निर्माण से उन्हें काफी सुविधा होगी। ग्रामीणों ने बताया कि उन्हें शासकीय एवं अन्य कार्य से प्रायः लोहण्डीगुड़ा, उसरीबेड़ा या जगदलपुर जाने की आवश्यकता पड़ती है तथा इस मार्ग के निर्माण से निश्चित तौर पर उनका कार्य सरल होगा। कलेक्टर ने ग्रामीणों से कहा कि प्रशासन द्वारा प्राथमिकता के साथ इस सड़क का निर्माण शीघ्रता से कराया जाएगा।

पुसपाल से एरपुण्ड तक बन रही 36.6 किलोमीटर लम्बी सड़क

लोहण्डीगुड़ा विकासखण्ड के ग्राम पुसपाल से एरपुण्ड तक 36.6 किलोमीटर लम्बी सड़क का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत किया जा रहा है। इंद्रावती नदी के किनारे बसे चारों ओर से पहाड़ों से घिरे इस क्षेत्र में वर्तमान में सुगम यातायात सुविधा नहीं है। इसके साथ ही छोटे-छोटे नाले भी यातायात को अवरुद्ध करते हैं। पीएमजीएसवाई के तहत लगभग 10 करोड़ 12 लाख रुपए की लागत से सड़क का निर्माण किया जा रहा है, जिसमें 37 पुलियों के साथ 7 बड़े पुल भी शामिल हैं। इस सड़क के निर्माण से एरपुण्ड, एर्राकोड़ेर, पिच्ची कोड़ेर, इमलीधार, धर्माबेड़ा, चंदेला, ककनार, महिमा, पालम और पुसपाल पक्की सड़क से जुड़ जाएंगे।

new jindal advt tree advt
Back to top button