राष्ट्रीय

केंद्र सरकार पर HC की टिपण्णी, कहा, ‘वह देश के प्रधानमंत्री हैं, न कि बीजेपी के’

चंडीगढ़: डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को बलात्‍कार के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद उनके समर्थकों के उपद्रव पर हरियाणा और पंजाब हाई कोर्ट ने हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार का जमकर फटकार लगाई.

हाई कोर्ट ने कहा कि अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए सरकार ने पंचकूला को जलने के लिए छोड़ दिया. फुल बेंच ने सुनवाई के दौरान कहा कि हालात के सामने सरकार ने सरेंडर कर दिया.

इसी के साथ हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार को भी डांट पिलाई और प्रधानमंत्री के बारे में कहा, ‘वह देश के प्रधानमंत्री हैं, न कि बीजेपी के.’

कोर्ट ने यह टिप्पणी तब की, जब केंद्र सरकार के वकील ने यह कहा कि कल की हिंसा राज्य का विषय है.

इस पर कोर्ट ने कहा, क्या हरियाणा, भारत का हिस्सा नहीं है? पंजाब और हरियाणा के साथ सौतेले बच्चे की तरह बर्ताव क्यों किया जा रहा है?

आईजी को थप्पड़ मारने वाले राम रहीम के 6 सुरक्षा गार्ड और दो समर्थक अरेस्ट

इसके साथ ही फ़ैसले के बाद राम रहीम की गिरफ़्तारी के वक़्त करनाल के आईजी को थप्पड़ मारने वाले राम रहीम के 6 सुरक्षा गार्ड और दो समर्थकों के ख़िलाफ़ देशद्रोह का मामला दर्ज कर लिया गया है.

इसके अलावा सरकारी काम में बाधा पहुंचाने समेत कुल तीन धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. दरअसल ये लोग आईजी से इस बात पर उलझ गए कि वो राम रहीम को अपनी गाड़ी में ले जाएंगे.

खट्टर के इस्‍तीफे से बीजेपी का इनकार

इस बीच दिल्‍ली में बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह के नेतृत्‍व में हरियाणा के हालात पर चर्चा के लिए पार्टी की बैठक हुई.

हालांकि सूत्रों के अनुसार बीजेपी ने हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के इस्‍तीफे से इनकार किया है.

बैठक में हरियाणा के प्रभारी अनिल जैन, कैलाश विजयवर्गीय से अमित शाह ने मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक खट्टर को दिल्‍ली तलब नहीं किया गया है.

Tags
Back to top button