राष्ट्रीय

हनुमान जयंती पर राजस्थान में सांप्रदायिक तनाव : बूंदी में इंटरनेट बंद

एसएमएस, व्हाट्सएप के साथ सोशल मीडिया के सभी प्लेटफॉर्म पर रोक

जयपुर/बूंदी: रामनवमी पर पश्चिम बंगाल में सांप्रदायिक तनाव की आग अब बिहार के बाद राजस्थान और गुजरात में पहुंच गई है। राजस्थान में तनाव का माहौल बना हुआ है। सरकार ने हनुमान जयंती से पहले तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए राज्य के बूंदी में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं। एसएमएस, व्हाट्सएप के साथ सोशल मीडिया के अन्य प्लेटफॉर्म पर भी रोक लगा दी गई है। हालांकि ब्रॉडबैंड और लीज लाइन पर नेट चालू रहने की बात कही गई है।

रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार रात आठ बजे से अगले आदेश तक सभी सेवाओं बंद कर दी गई हैं। यह कदम इसलिए उठाया गया है ताकि 31 मार्च को हनुमान जयंती पर आपसी सद्भाव और कानून व्यवस्था बनी रहे।

शोभायात्रा और अखाड़े में बढ़ी सुरक्षा

जानकारी के लिए बता दें कि शनिवार को शहर में शोभायात्रा और अखाड़े निकलेंगे। इसपर सरकार ने किसी भी अप्रिय स्थिति को देखते हुए यह कदम उठाया है। इससे पहले रामनवमी के दिन शोभायात्रा पर हुए पथराव के बाद शहर तीन दिन तक बंद रहा। आरोपियों की गिरफ्तार की मांग के चलते बीते सोमवार, मंगलवाल बुधवार को बाजार बंद रहे। गुरुवार को बाजारों की कुछ दुकानों तो खुली, लेकिन हनुमान जयंती को देखते हुए इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

पश्चिम बंगाल में चार लोगों की हो चुकी है मौत

बता दें कि रामनवमी के दिन भड़के दंगों की वजह से पश्चिम बंगाल में चार लोगों की मौत हो चुकी है। चौथे शख्स की मौत बुधवार को हुई, जिसकी पहचान गुरुवार सुबह की गई।

नवादा में तोड़फोड़

बिहार में भी कई जिलों में भड़की हिंसा के बाद अब नया मामला नवादा में सामने आया है। रिपोर्ट के मुताबिक यहां एक धार्मिक स्थल पर तोड़-फोड़ की गई है। इस दौरान कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया है, जबकि कई वाहनों को आग लगा दी गई। उधर गुजरात के सूरत में दो समुदाय के बीच हुई झड़प में छह लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इस मामले में पुलिस ने 40 लोगों को हिरासत में लिया है।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.