सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पंडरिया को मिला ऑक्सीजन मशीन नगर सेवक के रूप में कर रहे कार्य आनंद सिंह

पंडरिया नगर के बहु चर्चित आनंद सिंह के प्रयासों से नगरपंचायत पंडरिया व क्षेत्र के कोविड मरीजों के लिए आटोमेटिक ऑक्सिजन कॉन्सल्टेटर मशीन नगर के आम जन व कोविड मरीजों के लिए नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को निःशुक्ल दिया गया

हिमांशु सिंह ठाकुर:- ब्यूरो रिपोर्ट कवर्धा।

ब्यूरो कवर्धा : पंडरिया नगर के बहु चर्चित आनंद सिंह के प्रयासों से नगरपंचायत पंडरिया व क्षेत्र के कोविड मरीजों के लिए आटोमेटिक ऑक्सिजन कॉन्सल्टेटर मशीन नगर के आम जन व कोविड मरीजों के लिए नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को निःशुक्ल दिया गया आपको बता दे कि पंडरिया नगर वासियों के लिए यह बहुत खुशी की बात है नगर सेवक के रूप में आनंद सिंह हमेशा से लोगो के लिए कार्य किया है

परंतु इस वक्त पूरा विश्व जब कोरोना महामारी से जूझ रहा है वही नगर सेवक के रूप में सामने आकर आंनद सिंह ने अपना कर्तव्य निभाते हुए कोरोना मरीजों की जान बचाने व लोगो का सेवक बन कर कार्य कर रहे है कोरोना जैसे महामारी को देखते हुए नगर को ऑक्सीजन मशीन प्राप्त हुआ है जो क्षेत्र की जनता के लिए दी गई है इससे पहले आपको बता दे कि अब तक किसी भी सामाजिक राजनीतिक या अन्य संगठनों द्वारा लोगो के हित के लिए नही दिया गया

सुरेंद्र सिंह छाबड़ा 

जो कि यह चिंता का विषय है नगर सेवक आनंद सिंह के इस प्रयास से निश्चित ही सामाजिक संगठनों में जागरूकता देखने को मिलेगी आक्सीजन मशीन को सौपने सुरेंद्र सिंह छाबड़ा पूर्व सरपंच कुंडा, बाबा हरदीप सिंह गुरुद्वारा कुंडा द्वारा सेवा हेतु प्रदान की गई इस अवसर पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पंडरिया में मशीन सौंपते ही BMO एवं स्टाफ द्वारा एक कोविड मरीज सरस्वती यादव को ऑक्सीजन मशीन लगाकर सफल परीक्षण किया गया

ऑक्सीजन लगने से पहले मरीज का ऑक्सीजन 94 था ऑक्सीजन लगाने के 8 मिनट बाद मरीज का ऑक्सीजन लेवल 99 आ गया जिसे देखने के बाद मशीन टेस्टिंग सफल रहा वही इस मशीन को सौपने सुरेंद्र सिंह छाबड़ा,देवेंद्र गुप्ता आनंद सिंह शिव गायकवाड ,शंकर राव श्यामू धुलिया ,राजकुमार अनंत, चन्दन मानिकपुरी ,ललित देवांगन ,किलु खान ,आकाश सिंह ,मोनू तिवारी नितिन जैन द्वारा स्वर्गीय बसंत बैस की स्मृति में उन्हे श्रद्धांजलि देते हुए जनसेवा के रूप में समर्पित की गई।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button