छत्तीसगढ़

17वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीडा प्रतियोगिता का समापन

जगदलपुर : 17वीं राज्य स्तरीय शालेय क्रीडा प्रतियोगिता का समापन समारोह जगदलपुर के इंदिरा प्रियदर्शिनी स्टेडियम में सोमवार को आयोजित किया गया। इस अवसर पर प्रदेश के आदिम जाति एवं कल्याण मंत्री श्री केदार कश्यप ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमनसिंह द्वारा छत्तीसगढ़ में खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए बेहतर प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ शासन की इन्हीं प्रयासों का परिणाम रायपुर में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और हॉकी स्टेडियम के रुप में सामने आया है। उन्होंने कहा कि खेल प्रतिभाओं को अधिक से अधिक अवसर प्रदान करने के लिए छत्तीसगढ़ को 5 जोन से बढ़ाकर 12 जोन में बांटा गया, जिसके परिणाम स्वरुप खिलाड़ियों की संख्या 19 हजार से बढ़कर 30 हजार हो गई है। उन्होंने कहा कि आज छत्तीसगढ़ के खिलाड़ी उन अंतर्राष्ट्रीय खेलों में महारत हासिल कर रहे हैं, जिनके बारे में हम सिर्फ इंटरनेट से जानकारी ले पाते हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ शासन द्वारा खेल प्रतिभाओं को अधिक से अधिक अवसर उपलब्ध कराने के साथ ही परम्परागत खेलों को संरक्षित करने का कार्य भी कर रही है। उन्होंने आगामी राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन जगदलपुर में कराने की बात भी कही।
सांसद श्री दिनेश कश्यप ने कहा कि खेल में हार-जीत से अधिक महत्व स्पर्धा में शामिल होना है। उन्होंने कहा कि हार से मायूस होने और जीत के जश्न में डूबने के बजाय खिलाड़ी को आगामी प्रतियोगिता की तैयारी पर अधिक ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को हमेशा खेल भावना के साथ प्रदर्शन करना चाहिए और अनुशासन उनके जीवन में सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। सांसद ने कहा कि बस्तर की अनुपम कला और संस्कृति पूरे विश्व में विख्यात है तथा यह क्षेत्र मनोरम पर्यटन स्थलों से परिपूर्ण है। उन्होंने खिलाड़ियों को बस्तर की इस कला संस्कृति तथा पर्यटन स्थलों का आनंद लेने को कहा।
रायपुर बना ओवरऑल चैम्पियन
चार दिवसीय इस खेल प्रतियोगिता में 14, 17 एवं 19 वर्ष आयु वर्ग के बालक-बालिकाओं के लिए तैराकी, 19 वर्ष बालक वर्ग में वाटर पोलो, 14,17 एवं 19 वर्ष आयु वर्ग के बालक-बालिकाओं के लिए थ्रो बॉल एवं 19 वर्ष आयु वर्ग में बालक-बालिकाओं की कबड्डी की प्रतियोगिता आयोजित की गई, जिसमें ओवरऑल चैम्पियनशिप पर रायपुर जोन ने कब्जा जमाया। थ्रो बॉल 17 वर्ष बालक वर्ग में कोंडागांव प्रथम, कबीरधाम द्वितीय और रायपुर तृतीय, थ्रो बॉल 17 वर्ष बालिका वर्ग में बस्तर प्रथम, कबीरधाम द्वितीय और राजनांदगांव तृतीय, कबड्डी 19 वर्ष बालक वर्ग में बिलासपुर प्रथम, रायपुर द्वितीय और कोरिया तृतीय,
कबड्डी 19 वर्ष बालिका वर्ग में राजनांदगांव प्रथम, बिलासपुर द्वितीय और कांकेर तृतीय, तैराकी 14 वर्ष बालक वर्ग में दुर्ग प्रथम, बिलासपुर द्वितीय और रायपुर तृतीय, तैराकी 14 वर्ष बालिका वर्ग में दुर्ग प्रथम सरगुजा द्वितीय और रायपुर तृतीय, तैराकी 17 वर्ष बालक वर्ग में बिलासपुर प्रथम, रायपुर द्वितीय और जांजगीर तृतीय, तैराकी 17 वर्ष बालिका वर्ग में प्रथम रायपुर, दुर्ग द्वितीय और बिलासपुर तृतीय, तैराकी 19 वर्ष बालक वर्ग में दुर्ग प्रथम, रायपुर द्वितीय और जशपुर तृतीय, तैराकी 19 वर्ष बालिका वर्ग में रायपुर प्रथम, दुर्ग द्वितीय और सरगुजा तृतीय, वाटर पोला 19 वर्ष बालक वर्ग में बस्तर प्रथम, बिलासपुर द्वितीय और सरगुजा तृतीय, कराटे 14 वर्ष बालक वर्ग में बस्तर प्रथम, राजनांदगांव द्वितीय और दुर्ग तृतीय, कराटे 14 वर्ष बालिका वर्ग में दुर्ग प्रथम, रायपुर द्वितीय और बस्तर तृतीय, कराटे 17 वर्ष बालक वर्ग में दुर्ग प्रथम, रायपुर द्वितीय और बस्तर तृतीय, कराटे 17 वर्ष बालिका वर्ग में रायपुर प्रथम, दुर्ग द्वितीय और बिलासपुर तृतीय, कराटे 19 वर्ष बालक वर्ग में दुर्ग प्रथम, रायपुर द्वितीय और बिलासपुर तृतीय तथा कराटे 19 वर्ष बालिका वर्ग में रायपुर प्रथम, बिलासपुर द्वितीय और दुर्ग जोन तृतीय स्थान पर रहे। सर्वश्रेष्ठ अनुशासित दल के लिए बस्तर जोन और सर्वश्रेष्ठ मार्च पास्ट के लिए जशपुर जोन को सम्मानित किया गया।

 

इस अवसर पर कलेक्टर श्री धनंजय देवांगन, पद्मश्री श्री धर्मपाल सैनी, जिला ओलंपिक संघ के अध्यक्ष श्री एनआर प्राशर, युवा आयोग के सदस्य श्री संग्राम सिंह राणा, पार्षद संजय पाण्डेय, श्री रजनीश पाणीग्राही, जिला शिक्षा अधिकारी श्री राजेन्द्र झा सहित जनप्रतिनिधिगण एवं खिलाड़ी उपस्थित थे।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.