राष्ट्रीय

सेना और पुलिसकर्मियों के बीच संघर्ष, सीतारमण और रिजिजू ने की समीक्षा

नागरिक समाज के सदस्यों से भी मुलाकात की

बोमडिया:

अरूणाचल प्रदेश के बोमडिया में सेना और पुलिस कर्मियों के बीच पिछले हफ्ते संघर्ष हो गया। जिसके बाद कल रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजीजू ने पूरे मामले की समीक्षा की।

पिछले हफ्ते सेना के कुछ जवानों ने बोमडिया थाने में तोड़फोड़ की थी और पुलिसकर्मियों तथा आम लोगों पर हमला किया था। रिजिजू ने कहा कि सेना और पुलिसकर्मियों के बीच हुए टकराव पर रक्षा मंत्री और मैंने गौर किया है। मैं सबसे अपील करता हूं कि इसे सेना बनाम पुलिस और नागरिक प्रशासन की तरह नहीं लें।

अरुणाचल प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले रिजिजू ने कहा कि दो नवंबर को बोमडिया में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना को आपसी सहमति के जरिए सौहार्द से निपटाना चाहिए। उन्होंने कहा कि सेना और पुलिस, दोनों ही अत्यंत ही समर्पण से राष्ट्र की सेवा कर रहे हैं।

एक घटना से महान संस्थानों की छवि को धूमिल करने नहीं होने दिया जा सकता है। सीतारमण और रिजिजू, दोनों ने ही विश्वास की बहाली के उपायों के तौर पर नागरिक समाज के सदस्यों से भी मुलाकात की। सीतामरण भारत-चीन सरहद पर अग्रिम इलाकों में तैनात सैनिकों के साथ दिवाली मनाने के लिए अरुणाचल प्रदेश में हैं।

congress cg advertisement congress cg advertisement
Tags