कुंडली में राजयोग का भ्रम:-

आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) छतरपुर मध्यप्रदेश, किसी भी प्रकार की समस्या समाधान के लिए सम्पर्क कर सकते हो, सम्पर्क सूत्र:- 9131366453

जो भी लोग थोड़ा बहुत ज्योतिष के संपर्क में रहते हैं उन सभी लोगों को लगता है कि जन्म कुंडली या लग्न कुंडली में जितने ज्यादा राजयोग होंगें जीवन उतना ही ज्यादा खुशहाल और वैभवशाली होगा और यदि कुंडली में कोई राजयोग नहीं होगा तो जीवन फटेहाल ही रहेगा

ऐसे लोगों को मैं यह बताना और स्पष्ट करना चाहता हूँ कि जिनकी कुंडली में ऐसी स्थिति है अर्थात राजयोग है वे ज्यादा ग़लतफ़हमी या ख़ुशी में ना रहें और जिनकी कुंडली में कोई भी राजयोग नहीं है वे ज्यादा दुखी और भ्रम में ना रहें,

क्योंकि मैंने अपने लम्बे ज्योतिषीय जीवन में यह पाया और देखा है कि अधिकांशतः राजयोग वाले लोग ज्यादा कष्ट में रहते हैं और बिना राजयोग वाले लोगों की जिंदगी मौज में कट रही होती है,

उदहारण स्वरुप यदि एक रिक्शा चालक के बेटे की कुंडली में यदि राजयोग है तो वह अपने जीवन में ऑटो रिक्शा चलाने लग जाएगा,

यह भी एक प्रकार का राजयोग है अर्थात जो व्यक्ति जिस परिवेश में जन्म लेता है और अपने जीवन में वह उस स्तर से ऊपर पहुँच जाता है तो यह भी एक प्रकार का राजयोग हुआ

क्योंकि जीवन कैसा होगा अर्थात व्यक्ति कहाँ तक पहुँच सकता है इसका असली आंकलन तो व्यक्ति की नवमांश कुंडली से ही हो पाता है लेकिन इसमें ज्योतिषीय दृष्टिकोण से व्यक्ति की दिशा और दशा कई अन्य बातों पर भी निर्भर करती है,

इसलिए यदि आपको भी कुंडली में किसी राजयोग को लेकर कोई भ्रम है तो इस सम्बन्ध में और अधिक स्पष्टता के लिए समय रहते किसी ज्ञानी एवं अनुभवी ज्योतिषी से ही परामर्श प्राप्त करने का ईमानदारी से प्रयास करें,

केवल ज्योतिष:- चमत्कार नहीं

आत्मविश्वास बढ़ाएं:- अन्धविश्वास भगाएं:-

किसी भी प्रकार की समस्या समाधान के लिए आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) जी से सीधे संपर्क करें = 9131366453

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button