छत्तीसगढ़

कांग्रेस और एक निजी संस्था का दावा, छत्तीसगढ़ में है लाखों फर्जी मतदाता

काँग्रेस पार्टी ने लगाया गड़बड़ी का आरोप

रायपुर : छत्तीसगढ़ में मतदाता सूची में एक बड़ी गड़बड़ी का आरोप काँग्रेस पार्टी ने लगाया है । साल 2003 से लेकर 2018 तक मतदाता सूची में गड़बड़ी का आरोप लगाया गया है ।

कांग्रेस ने एक निजी संस्था के हवाले से ये आरोप लगाते हुए कहा है कि इसकी जानकारी मुख्य निर्वाचन आयुक्त को दी गई है । प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने बताया कि पॉलिटिक्स डॉट इन एक निजी संस्था है जिसने मतदाता सूची में गड़बड़ी का पता लगाया है ।

बघेल ने कहा कि इसकी पूरी जानकारी भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओपी रावत के सामने प्रेजेंटेशन के माध्यम से दी गई है । बघेल ने कहा कि जिस तरह के आंकड़े है वो चीख चीख कर कह रहा है कि एक बड़ी गड़बड़ी प्रदेश में हुई है ।

वहीं संस्था के सीईओ विकास जैन ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए बताया कि साल 2003 से 2018 तक हर साल छत्तीसगढ़ में एक से डेढ़ लाख नए मतदाता जुड़ते हैं । उन्होंने कहा कि साल 2013 में 6 से 8 महीने के बीच मे 7 से 8 लाख मतदाता बढ़ गए साथ ही उन्होंने कहा कि इसी तरह इस बार भी एक करोड़ मतदाता नए जुड़े हैं।

विकास जैन ने दावा करते हुए कहा कि क़रीब 2 लाख 12 हजार 424 लोग ड्यूप्लिकेट मतदाता है । उनका कहना है कि एक व्यक्ति का नाम 50 बार से अधिक है । विकास जैन ने कहा कि करीब 16 सौ ईपिक नंबर भी एक ही तरह का है । उन्होंने कहा कि दस सीटों में जीत का अंतर ड्यूप्लिकेट मतदाता से कम है ।

Tags
Back to top button