कांग्रेस और एनसीपी थक चुके, अब दोनों का विलय हो जाना चाहिए: सुशील कुमार

चुनाव प्रचार में सुशील कुमार शिंदे दिया बड़ा बयान

सोलापुर:महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे और 24 अक्टूबर को नतीजे आएंगे. इस चुनाव में कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन के तहत 125-125 सीटों पर लड़ रही हैं.

इसी बीच महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव प्रचार में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी दोनों थक चुके हैं. अब कांग्रेस एनसीपी का आपस में विलय हो जाना चाहिए.

कांग्रेस एनसीपी एक ही पेड़ के नीचे पले बढ़े हैं. हम दोनों पार्टियां एक ही मां की गोद में पले बढ़े हैं. इंदिरा गांधी और यशवंत राव चव्हाण के नेतृत्व में हमने काम किया है. जिस मुद्दे पर एनसीपी बनी थी वह मुद्दा नहीं रहा है. हमारा दिल भी दुखता है और उनका भी, लेकिन वह दिखाते नहीं हैं.

एनसीपी प्रमुख शरद पवार का नाम लिए बिना शिंदे ने कहा कि समय आयेगा तो वह यह कर दिखायेंगे. अब दोनों पार्टियों को एक होना चाहिए. एनसीपी के सोलापूर के उम्मीदवार मनोहर सपाटे की प्रचार कार्यालय के उद्घाटन समारोह के लिए आए थे. इसी दौरान उन्होंने एनसीपी के कांग्रेस में विलय होने की सलाह दी.

2019 के लोकसभा चुनाव के बाद भी इस प्रकार चर्चाएं थीं की एनसीपी और कांग्रेस का विलय हो सकता है. माना जाता है कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने अपनी पार्टी को कांग्रेस विलय नहीं किया. एनसीपी के बैनर पर ही वह विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं.

लेकिन कांग्रेस-एनसीपी दोनों पार्टियां विधानसभा चुनाव गठबंधन करके लड़ रही है.पिछले पांच साल से महाराष्ट्र में कांग्रेस की ताकत कम हुई तो दुसरी और एनसीपी के ज्यादातर बड़े नेता पार्टी छोड़ रहे हैं. ऐसे में सुशील कुमार शिंदे का यह बयान अहम है.

Back to top button