कांग्रेस के लिए यूपी में सपा-बसपा के साथ गठबंधन मुश्किल

सपा-बसपा विधायकों को मंत्रालय में जगह नहीं मिली

नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस किसी भी तरह का जोखिम लेने के मूड में नहीं दिख रही है। लिहाजा सपा और बसपा के मतभेद को कम करने के लिए कांग्रेस अपने कोशिशों में जुट गई है।

वहीं कांग्रेस के लिए यूपी और बिहार सबसे बड़ा लक्ष्य है जहां पार्टी खुद की स्थिति को मजबूत करने के लिए लगातायर कवायद कर रही है। मध्य प्रदेश और राजस्थान के चुनाव के दौरान सपा-बसपा ने कांग्रेस से दूरी बनाई थी, लेकिन चुनाव के बाद दोनों ही पार्टियों ने कांग्रेस को समर्थन दिया और सरकार के गठन में अहम भूमिका निभाई।

दोनों ही प्रदेश में सपा-बसपा के विधायकों को मंत्रालय में जगह नहीं मिली, जिसकी वजह सपा और बसपा कांग्रेस को यूपी में दरकिनार करने की पटकथा रचने की तैयारी कर रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस के लिए यूपी में सपा और बसपा के साथ गठबंधन की राह काफी मुश्किल लग रही है।

1
Back to top button