कांग्रेस ने वित्त मंत्री अरूण जेटली से की इस्तीफे की मांग

बेटी पर लगे हैं मेहुल चौकसी से रुपये लेने के आरोप

नई दिल्लीः

कांग्रेस ने मोदी सरकार पर आर्थिक आतंकियों और भगोड़ों को सुरक्षित रास्ता देने का आरोप लगाते हुए और ‘‘हितों के टकराव’’ का दावा करते हुए वित्तमंत्री अरुण जेटली का इस्तीफा मांगा है।

पार्टी ने कहा कि जेटली की वकील बेटी और दामाद को भगोड़े मेहुल चोकसी से कथित तौर पर 24 लाख रूपये बतौर रिटेनरशिप मिले। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को वित्त मंत्री अरूण जेटली का यह आरोप लगाते हुए इस्तीफा मांगा कि उनकी बेटी मेहुल चोकसी के ‘‘पे-रोल पर थीं।’’

चोकसी कई करोड़ रुपये के पीएनबी धोखाधड़ी मामले में मुख्य आरोपी है। जेटली के दामाद ने हालांकि पहले एक बयान जारी कर कहा था कि जैसे ही उनकी लॉ फर्म को कंपनी के घोटाले में संलिप्त होने का पता चला उन्होंने उसी वक्त रिटेनरशिप की रकम लौटा दी थी।

कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने पार्टी सहयोगी राजीव सातव और सुष्मिता देव के साथ अलग से कहा कि जनवरी तक 44 महीनों के कार्यकाल में मोदी सरकार अभूतपूर्व 19,000 ‘बैंक धोखाधड़ी मामलों’ की गवाह बनी जिसमें 90 हजार करोड़ रूपये की रकम का हेरफेर हुआ।

उन्होंने आरोप लगाया कि भारत सरकार की नाक के नीचे से 23 घोटालेबाज देश को 53 हजार करोड़ का चूना लगाकर फरार हो गए।

राहुल ने ट्विटर पर आरोप लगाया कि जेटली ‘‘फाइलों को दबाए रखे और उसे (चोकसी) भागने दिया।’’ कांग्रेस प्रमुख ने दावा किया कि मीडिया ने इस खबर को ‘‘नहीं दिखाया’’ लेकिन देश के लोग इससे अवगत हैं।

उन्होंने आईसीआईसीआई बैंक की खाता संख्या बताई जिससे जेटली की बेटी को कथित तौर पर धन स्थानांतरण हुआ था। उन्होंने ‘अरूण जेटली इस्तीफा दो’ के हैशटैग का इस्तेमाल करते हुए लिखा, ‘‘अरूण जेटली की बेटी चोर मेहुल चोकसी के पे-रोल पर थीं।

बहरहाल उनके वित्त मंत्री पिता फाइल दबाए रखे और उसे भागने दिया।’’ उन्होंने लिखा, ‘‘उन्हें धन मिला…’’ कांग्रेस प्रमुख ने ट्वीट किया, ‘‘यह दुखद है कि मीडिया ने इस खबर को नहीं दिखाया। देश के लोग इससे अवगत हैं।’’

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि जेटली की बेटी और दामाद दोनों को चोकसी से कथित तौर पर 24 लाख रुपये रिटेनरशिप के रूप में मिला। उनकी बेटी और दामाद दोनों वकील हैं।

Back to top button