छत्तीसगढ़

आज किसानो के हक में कांग्रेस का प्रदर्शन

रायपुर : राज्य की भाजपा द्वारा 2013 के चुनावी संकल्प/घोषणा पत्र में प्रदेश के किसानों को धान का समर्थन मूल्य 2100 रू. तथा बोनस प्रति क्विंटल व एक-एक दाना धान खरीदी किये जाने का वायदा किया था। 2016 तक किसानों के साथ लगातार धोखा करते रहे, अब आगामी चुनाव को ध्यान में रखते हुये किसानों के साथ चुनाव के समय किये गये वायदे को पूरा न करके छल करते हुये आधा-अधूरा बोनस राशि 3 अक्टूबर 2017 से वितरित किये जाने का फैसला किया है, जो किसानों के साथ सरासर धोखाधड़ी है।
छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भूपेश बघेल ने किसानों को भाजपा द्वारा चुनाव के समय किये वायदे के अनुसार वाजिब हक दिलाये जाने के लिये शांतिपूर्ण प्रदर्शन का निर्णय लेते हुये निम्न मांगों को जहां-जहां बोनस उत्सव मनाया जायेगा वहां पर प्रभावी ढंग से रखे जाने का निर्देश दिया है –
1    प्रदेश में कर्ज से आत्महत्या किये किसानों के पीड़ित परिजनों को एक-एक करोड़ रूपयें का मुआवजा दिया जावे।
2    घोषित धान खरीदी का समर्थन मूल्य 2100 रू. व 300 रू. बोनस प्रति क्विंटल दिया जाये।
3    भाजपा के चुनावी घोषणा पत्र के हिसाब से प्रति क्विंटल 3830 रू. के दर से समर्थन मूल्य व बोनस की अंतर संपूर्ण राशि 26382 करोड़ का भुगतान सरकार द्वारा किया जाये।
4    चुनावी संकल्प पत्र के अनुसार किसानों का एक-एक दाना धान खरीदा जाये।
5    किसान भाईयों के सभी प्रकार के ऋण माफ करने व कृषि पंपों को निःशुल्क बिजली प्रदान किये जाने की मांग।
6    किसानों की लंबित फसल बीमा की राशि भुगतान कराये जाने की मांग।
7    कृषि व घरेलू दर में किये गये वृद्धि को कम किये जाने की मांग।

साथ ही उक्त मांगों के साथ निम्न नारा को बुलंद किया जाना है-

1    चुनाव आवत हे, त बोनस – चुनाव सिरागे त, तैह कोनस?
2    समर्थन मूल्य की अंतर राशि 3830 रू. प्रति क्विंटल देना-होगा, देना-होगा।
3    किसानों के साथ छलावा, धोखाधड़ी, बंद करो, बंद करो।

समस्त जिला, शहर, नगर और ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों को कहा गया है कि 03 अक्टूबर 2017 से बोनस वितरण उत्सव तक लगातार जिला, शहर, नगर एवं ब्लाक मुख्यालयों में स्थानीय प्रदेश पदाधिकारियों, सांसद, पूर्व सांसद प्रत्याशी, विधायक, पूर्व विधायक प्रत्याशी, पूर्व विधायकों, जिला कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों, ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एवं पदाधिकारियों, मोर्चा संगठन, प्रकोष्ठ एवं विभाग के जिला एवं ब्लाक पदाधिकारियों, सोशल मीडिया के प्रशिक्षित सदस्यों, नगरीय-निकाय, त्रि-स्तरीय पंचायत के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों, सहकारिता क्षेत्र के पदाधिकारियों, वरिष्ठ कांग्रेसजन, कार्यकर्ताओं की उपस्थिति सुनिश्चित करते हुये किसानों के हक में बोनस वितरण स्थल पर प्रदर्शन को सफल बनायें।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.