कांग्रेस का हाथ देशद्रोहियों के साथ : योगी आदित्यनाथ

अंबिकापुर : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस की नीति और नियत पर सवाल खड़े किए हैं। शुक्रवार को अंबिकापुर के कला केंद्र मैदान में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस का हाथ देशद्रोहियों के साथ मिला हुआ है। कांग्रेस ने जो घोषणा पत्र जारी किया है उसे देख कर लगता ही नहीं कि वह किसी राष्ट्रीय राजनीतिक दल का घोषणा पत्र है बल्कि यह घोषणा पत्र आतंकवाद, नक्सलवाद को बढ़ावा तथा देश हित की अनदेखी करने का जीता जागता उदाहरण है।

लगभग 25 मिनट के अपने उद्बोधन की शुरुआत योगी आदित्यनाथ ने छत्तीसगढ़ के ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व से की। उन्होंने कहा कि त्रेतायुगीन स्मृतियों से जुड़ा छत्तीसगढ़ का यह इलाका भगवान राम का ननिहाल है ।यह महज संयोग नहीं है कि वनवास के दौरान श्री राम यहां कुछ समय के लिए आए थे बल्कि हम सब के लिए यह महत्वपूर्ण इसलिए है कि भगवान श्री राम ने वनवास के दौरान छत्तीसगढ़ की इसी धरा को धर्म की भूमि बनाने का जिम्मा लिया था। उन्होंने कहा कि भारत देश में एक ओर राम के प्रति आस्था व्यक्त करने वाले लोग हैं तो दूसरी ओर कुछ ऐसे लोग भी हैं जो श्री राम, श्री कृष्ण का अस्तित्व नहीं मानते हुए सीधे-सीधे राष्ट्रीयता को चुनौती देते हैं। उन्होंने कहा कि भगवान राम भारत की एकात्मकता के प्रतीक हैं जो लोग भारत में रहकर श्री राम के अस्तित्व को नकारते हैं वे भारत की एकता, अखंडता पर सीधे-सीधे चोट पहुंचा रहे हैं।

यूपीए शासन काल में राम सेतु को तोड़ने के दौरान भाजपा के सुप्रीम कोर्ट में जाने के बाद यूपीए सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में शपथ पत्र के जरिए श्री राम व श्री कृष्ण का अस्तित्व नहीं होने की दी गई जानकारी को पाप की संज्ञा देते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कांग्रेस ने जो पाप किया था उस पाप से बदला लेने का वक्त अब आ गया है ।उन्होंने कहा कि देश सिर्फ जमीन का टुकड़ा नहीं होता। इस देश को कांग्रेस ने नहीं बनाया, वर्षों से यह देश सभ्यता, संस्कृति, परंपरा को समेटे हुए आगे बढ़ रहा है। आस्थावान लोगों की वजह से देश विकास पथ पर अग्रसर हो रहा है। एक भारत व श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार करने का काम केंद्र की मोदी सरकार ने किया है।

उन्होंने छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि केंद्र सरकार व पूर्ववर्ती भाजपा सरकार द्वारा लोक कल्याण की जो योजनाएं संचालित की जा रही थी ,उसे बंद कर छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार ने यहां की जनता की भावनाओं को कुचलने का प्रयास किया है। लोगों को खाद्यान्न नहीं मिल रहा है ।आयुष्मान योजना का हक छीनने की कोशिश की जा रही है। अंत्योदय के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम संचालित गरीबों के कल्याण की योजनाओं को बंद कर दिया गया है।

कांग्रेस शासनकाल में माफिया प्रवृत्ति के लोग फिर से सिर ऊपर उठाने लगे हैं। यूपीए शासन काल में कांग्रेस ने माफिया राज की शुरुआत की थी ।हर रोज नए घोटाले सामने आ रहे थे ।12 लाख करोड़ से अधिक का घोटाला हुआ था।आज फिर से छत्तीसगढ़ में माफिया राज स्थापित हो रहा है। खनन, वन और भू माफिया हावी हो रहे हैं जिससे छत्तीसगढ़ अराजकता की चपेट में आने लगा है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद नक्सलवाद के खिलाफ गंभीरता नहीं बरती जा रही है। पिछले दिनों हमारे एक विधायक की नक्सलियों ने हत्या कर दी।

यह कोई सामान्य घटना नहीं, यह घटना भारत की राष्ट्रीयता पर हमला है ।छत्तीसगढ़ की कानून व्यवस्था की स्थिति तार- तार हो रही है। उन्होंने आम जनों से आह्वान किया की यदि कानून व्यवस्था देखना है तो उत्तर प्रदेश में आए। उत्तर प्रदेश में अपराधी की जगह या तो जेल में है या फिर राम नाम सत्य है कि हिसाब से उत्तर प्रदेश में हमारी सरकार काम कर रही है ।यदि अपराधियों को सत्ताधारी दल का संरक्षण मिलना शुरू हो जाएगा तो अराजकता देखने को मिलेगी वही स्थिति छत्तीसगढ़ में निर्मित हो चुकी है।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले विधानसभा चुनाव में यहां की जनता द्वारा की गई गलती का पश्चाताप आज हर चेहरे पर देखने को मिल रहा है। यदि छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार होती तो माफिया भी नहीं होते। नक्सली कोई दुस्साहस नहीं कर पाते। उन्होंने आम जनों से आह्वान किया कि विधानसभा चुनाव में जो गलती हुई। उस गलती को लोकसभा के चुनाव में नहीं दोहराया जाना चाहिए। जनता का एक वोट नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाएगा। उन्होंने पूर्वर्ती यूपीए शासन काल पर प्रहार करते हुए कहा कि एक दौर था जब डॉ मनमोहन सिंह देश के प्रधानमंत्री थे, जब उनसे पूछा गया था कि देश के संसाधनों पर पहला हक किसका है तो उन्होंने जवाब दिया था कि पहला हक मुसलमानों का है ,ऐसी सोच रखने वाले राजनीतिक दल इस देश के लिए बड़ा खतरा है।

Back to top button