कांग्रेस समुद्र के समान है, जिसमें अपना रास्ता खुद निकालना पड़ता है : दिग्विजय सिंह

जो व्यक्ति सब्र नहीं रख सकता वह राजनीति में आगे आ नहीं सकता।

मध्य प्रदेश :पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने यहां मंगलवार को कहा कि राजनीति में लड़ाई अनंत है, कांग्रेस समुद्र के समान है, जिसमें अपना रास्ता खुद निकालना पड़ता है।

राज्य के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुभाष यादव की पांचवीं पुण्यतिथि पर उनके गृह ग्राम बोरावां में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में दिग्विजय सिंह ने यादव के बड़े बेटे अरुण यादव को अचानक कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष पद से हटाए जाने के मसले पर कहा,

“मेरे साथ भी यही हुआ था। कुछ लिया जाता है तो उससे बड़ा पद भी मिलता है। राजनीति में सब्र रखें। अरुण यादव ने सब्र रखा है, जो व्यक्ति सब्र नहीं रख सकता वह राजनीति में आगे आ नहीं सकता। हालांकि बुरा तो लगता है, लेकिन राजनीति में यह लड़ाई अनंत है। कांग्रेस समुद्र है, इसमें अपना रास्ता खुद निकालना पड़ता है।”

उन्होंने आगे कहा कि सुभाष भाई ने अपना अमिट स्थान बनाया है। अरुण यादव व सचिन यावद दोनों भाइयों को मिलकर इस धरोहर को आगे बढ़ाने की आज चुनौती है।

ग्राम बोरावां में मंगलवार को प्रात: भक्ति संगीत, भजन कीर्तन, प्रार्थना और श्रद्धांजलि सभा में स्व़ सुभाष यादव की पत्नी दमयंती बाई यादव, उनके ज्येष्ठ सुपुत्र अरुण यादव, छोटे सुपुत्र सचिन यादव,

उनके भाई राजेंद्र यादव, कृष्णलाल पटेल, कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह, सचिव एवं पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन, संजय कपूर, जुबेर खान, सांसद कांतिलाल भूरिया, राज्यसभा सदस्य राजमणि पटेल,

मप्र कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेंद्र चौधरी के साथ ही बड़ी संख्या में प्रदेश भर से आए प्रशंसकों, समर्थकों, किसानों, सहकारी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों ने स्व़ सुभाष यादव के चित्र पर माल्यार्पण कर अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

Back to top button