दो दिन में गिर जाएगी कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार : भाजपा

कर्नाटक में गठबंधन सरकार पर खतरे के बादल मंडरा रहे

नई दिल्ली: कर्नाटक में तमाम उठापटक के बीच प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज कांग्रेस नेता सिद्धारमैया ने पार्टी के तमाम विधायकों को 18 जनवरी को होने वाली बैठक में हिस्सा लेने का निर्देश जारी किया है।

वहीं जिस तरह से दो विधायकों ने सरकार से अपना समर्थन वापस लिया है उसके बाद भाजपा ने कहा है कि कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार दो दिन में गिर जाएगी। कर्नाटक में गठबंधन सरकार पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं।

सिद्धारमैया ने तमाम विधायको को निर्देश जारी करते हुए चेतावनी दी

सिद्धारमैया ने तमाम विधायको को निर्देश जारी करते हुए चेतावनी दी है कि जो भी विधायक इस बैठक में शामिल नहीं होगा उसके खिलाफ दल बदल कानून लागू होगा और मान लिया जाएगा कि उसने पार्टी को छोड़ने का फैसला लिया है और पार्टी में उसकी प्राथमिक सदस्यता को रद्द कर दिया जाएागा।

आपको बता दें कि मंगलवार देर रात निर्दलीय विधायक एच नागेश और केपीजेपी के विधायक आर शंकर ने सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया था। दोनो ने अपने समर्थन को वापस लेने की चिट्ठी को राज्यपाल को भेज दिया है।

इन तमाम उठापटक के बीच मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने सरकार में भरोसा जताते हुए कहा कि प्रदेश सरकार पर कोई संकट नहीं है। दोनो विधायकों के सरकार से अलग होने के बाद भी प्रदेश की सरकार को कोई खतरा नहीं है।

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार स्थिर और पूरी तरह से निश्चिंत है, मुझे अपनी ताकत पर पूरा भरोसा है। रिपोर्ट के अनुसार मल्लिकार्जुन खड़गे आज बेंगलुरू जा सकते हैं और 18 जनवरी को विधायकों संग होने वाली बैठक में हिस्सा लेंगे। इस बैठक में सभी विधायकों की उपस्थिति को अनिवार्य कर दिया गया है।

कांग्रेस आला कमान ने निर्देश जारी किया है कि 18 जनवरी तक सभी विधायक आईटीसी ग्रैंड होटल में ही ठहरे, उन्हें बाद में बताया जाएगा कि क्या करना है। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार प्रदेश में सरकार के विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है।

advt
Back to top button