बाबरी केस से अलग हुए कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल

आलाकमान के निर्देश देने की लगाई जा रही अटकलें

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और वकील कपिल सिब्बल रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद केस से दूरी बना रहे हैं। मुस्लिम पक्ष की तरह से पैरोकारी कर रहे कपिल सिब्बल पिछली कुछ सुनवाइयों में सुप्रीम कोर्ट में पेश नहीं हुए हैं।

इसके बात से ही इस संबंध में कयास लगाए जा रहे हैं कि कपिल सिब्बल अब इस केस से हट रहे हैं। एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट में इस बात के कयास लगाए गए हैं कि संभवतया कांग्रेस ने कपिल सिब्बल को इस केस से हटने के लिए कहा है। उसके बाद से उन्होंने इस केस से दूरी बनानी शुरू कर दी है। हालांकि रिपोर्ट के मुताबिक मुस्लिम पक्षकारों का कहना है कि उन्होंने अस्थाई रूप से ब्रेक लिया है।

राजीव धवन करेंगे पैरवी : उनका यह भी कहना है कि केस में जब संवैधानिक मसलों पर बहस होगी तो उस दौरान कपिल सिब्बल की जरूरत होगी। लेकिन साथ ही यह भी कहा कि उनको ऐसी कोई जानकारी नहीं है कि कांग्रेस ने सिब्बल को केस से अलग होने को कहा है।

इस संबंध में आल इंडिया मुस्लिम पसर्नल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) के सदस्य और वकील जफरयाब जिलानी ने कहा, ”संवैधानिक मसलों पर हमें बहस के लिए कपिल सिब्बल की जरूरत है। हालांकि केस की यह स्टेज बाद में आएगी और छह अप्रैल को अगली सुनवाई में फिलहाल ऐसा नहीं होने जा रहा है। फिलहाल राजीव धवन इस पक्ष से केस की पैरवी करेंगे।

लिहाजा अभी स्पष्ट नहीं है कि कपिल सिब्बल भविष्य में मुस्लिम पक्ष की पैरोकारी करेंगे या नहीं? ऐसे में केस के बाद की स्टेज में ही जाकर पता चलेगा कि वह अभी भी केस से जुड़े हैं या नहीं। कपिल सिब्बल बाबरी केस में सबसे पुराने पक्षकार के वकील हैं।

advt
Back to top button