राष्ट्रीय

राजस्थान में किसान आंदोलन में शामिल होंगे कांग्रेस नेता राहुल गांधी

अपने राजस्थान के दो दिवसीय यात्रा के दौरान किसानों संग बैठक करेंगे पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष

नई दिल्ली: पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राजस्थान के दो दिवसीय यात्रा पर रहेंगे. इस दौरान वह किसानों संग बैठक करेंगे.. राजस्थान में किसान आंदोलन में शामिल होंगे.

राहुल गांधी शुक्रवार सुबह 11.30 बजे हनुमानगढ़ के पीलीबंगा के एक थोक बाजार में पहली बैठक को संबोधित करेंगे. इसके बाद दोपहर 3 बजे श्रीगंगानगर के पदमपुर में दूसरी बैठक करेंगे.

शनिवार को वायनाड सांसद राहुल गांधी किशनगढ़ हवाई अड्डे से अजमेर जिले में पहुंचेंगे और सुरसुरा में तेजाजी मंदिर जाएंगे और यहां किसानों के साथ संवाद करेंगे. बाद में वह रूपगढ़ में किसानों के साथ बातचीत करेंगे और नागौर जिले के मकराना में एक किसान रैली को भी संबोधित करेंगे. वहीं राजस्‍थान दौरे पर रवाना होने से पहले राहुल गांधी आज शुक्रवार सुबह 9 बजे दिल्‍ली 24 कबर रोड स्थित कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कॉन्‍फ्रेंस करेंगे.

राहुल गांधी के दौरे और किसान सभाओं की तैयारियों के सिलसिले में पार्टी के राजस्थान प्रभारी अजय माकन पहले से राजस्‍थान पहुंचे हुए हैं. राहुल गांधी के दौरे से पहले अजय माकन ने बीते गुरुवार को स्थानीय नेताओं के साथ पीलीबंगा व पदमपुर में होने वाली किसान सभाओं की तैयारियों की समीक्षा की. राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी ने नए कृषि कानूनों को लेकर लगाातर केंद्र सरकार पर हमला कर रही है कांग्रेस का आरोप है कि इससे किसानों की आय कम होगी.

‘कृषि कानूनों का विरोध किसानों तक ही सीमित नहीं’

इससे पहले कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने गुरुवार को लोकसभा में ‘हम दो, हमारे दो’ स्लोगन को लेकर मोदी सरकार पर तंज कसा. साथ ही, कहा कि तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहा विरोध सिर्फ किसानों तक सीमित नहीं है. राहुल ने कहा कि इन कानूनों को वापस लेना होगा, क्योंकि इसके विरोध को अब पूरे देश का समर्थन मिल गया है. उन्होंने कहा कि 75 दिनों से अधिक लंबे किसानों के विरोध प्रदर्शन के माध्यम से किसान केवल एक रास्ता दिखा रहे हैं और अब पूरा देश सरकार और उसके प्रशासन के खिलाफ खड़े होने की तैयारी कर रहा है.

लोकसभा में बजट 2021-2022 पर चर्चा के दौरान पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि सरकार का ध्यान सिर्फ निजी कंपनियों को लाभ देने पर केंद्रित है. उन्हें नाम लिए बिना कहा कि आप जानते हैं कि वे कौन हैं. राहुल ने कहा, देश के किसान और मजदूर पीछे नहीं रहेंगे. आपको तीन कृषि कानूनों को वापस लेना होगा. यह आंदोलन केवल किसानों तक ही सीमित नहीं है, यह ‘हम दो, हमारे दो’ के खिलाफ पूरे देश का आंदोलन है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button