सदन में कांग्रेस नेताओं ने स्काईवाक को लेकर फिजूलखर्ची के लगाए आरोप

लोक निर्माण मंत्री ताम्र ध्वज साहू बोले नहीं हुई कोई फिजूलखर्ची

रायपुर।

राज्य के मुख्यमंत्री भुपेश बघेल की मंशा और कांग्रेस नेताओं के विरोध से इतर छत्तीसगढ़ के लोक निर्माण मंत्री ताम्र ध्वज साहू ने कहा है कि राजधानी रायपुर में निर्माणाधीन स्काईवाक में किसी तरह की ना तो फिजूलखर्ची की गई है और ना ही किसी तरह का अनियमित निर्माण किया जा रहा है। मंत्री ने कहा कि स्काई वाक की प्रारंभिक लागत 49 करोड़ था जो बाद में बढ़कर 77 करोड़ हो गया।

उन्होने यह भी कहा कि स्काई वाक का काम निरंतर जारी है और इसके निर्माण को लेकर आम लोगों में किसी तरह का रोष और आक्रोष व्याप्त है। लोक निर्माण मंत्री ने ये बाते राज्य विधानसभा में जेसीसी नेता धरमजीत सिंह के ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के जवाब में कही। धरम जीत सिंह ने कहा कि स्काईवाक का निर्माण औचित्यहीन और केवल कमीशन खोरी के लिए किया जा रहा है।

उन्होने स्काईवाक के निर्माण को तत्काल रोके जाने की मांग की। जेसीसी नेता के साथ ही कांग्रेस विधायकों ने भी लागत 28 करोड़ बढ़ने को भी भष्टाचार का मामला बताया और पूरे मामले की जांच कराए जाने की मांग की। लेकिन विभागीय मंत्री ने सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। कांग्रेस विधायक कुलदीप जुनेजा ने कहा कि स्काईवाक लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है।

कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय ने भी पूरे प्रकरण को भष्टाचार का बड़ा प्रकरण बताते हुए पूरे मामले की जांच कराए जाने की मांग की। स्काईवाक पर समूचे सदन ने लोक निर्माण मंत्री को घेरा। इसके बाद लोक निर्माण मंत्री ने पूरे मामले की जांच कराने का राज्य विधानसभा में एलान किया।

Back to top button