राष्ट्रीय

अहमदाबाद नगर निगम चुनाव से पहले ही कांग्रेस ने गंवा दी एक सीट

अहमदाबाद की नारणपुरा सीट एससी महिला के लिए आरक्षित

नई दिल्ली: कांग्रेस द्वारा सामान्य वर्ग की महिला को टिकट दे दिया था. नामांकन वापसी के अंतिम दिन कांग्रेस की महिला उम्मीदवार ने अपना नामांकन वापस ले लिया. इस सीट से कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी की उम्मीदवार का नामांकन पहले ही रद्द हो चुका है. नारणपुरा सीट से अब भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के उम्मीदवार का निर्वाचन तय हो चुका है.

कांग्रेस उम्मीदवार के नामांकन वापसी के बाद कांग्रेस नेताओं की पोल खुल गई है. इस बार कांग्रेस ने यह साफ कर दिया था कि केवल निष्ठावान कार्यकर्ताओं को ही टिकट देगी. टिकट वितरण में भी पार्टी के नेता कितने संजीदा रहे, इसकी भी पोल खुल गई कि एससी के लिए आरक्षित सीट पर सामान्य महिला को टिकट दे दिया.

कांग्रेस की महिला उम्मीदवार के नामांकन वापस लेने को लेकर ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के शमशाद पठान ने कांग्रेस पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि अहमदाबाद में बीजेपी और कांग्रेस ने गठबंधन किया है.

बीजेपी उम्मीदवार बिना मतदान के ही विजेता घोषित हो रहे. इससे पहले सरदारनगर और ठक्करबापा नगर वार्ड के कांग्रेस उम्मीदवारों के फॉर्म सत्यापन के दौरान रद्द हो गए थे. अहमदाबाद नगर निगम चुनाव में कांग्रेस वोटिंग और नतीजों के ऐलान से पहले ही 192 में से 3 सीटें हार गई है.

गौरतलब है कि कांग्रेस ने एससी के लिए आरक्षित नारणपुरा सीट से चंद्रिक बेन रावल को मैदान में उतारा था. बीजेपी के टिकट पर बृंदा सुरती मैदान में थीं. आम आदमी पार्टी (एएपी) ने इस सीट से पुष्पबेन नाम की महिला को मैदान में उतारा था. पुष्पबेन का पर्चा सत्यापन के दौरान रद्द कर दिया गया था.

नामांकन वापसी का आज आखिरी दिन था. कांग्रेस की उम्मीदवार चंद्रिकाबेन ने नामांकन वापस ले लिया. अब इस सीट से केवल बीजेपी की उम्मीदवार बृंदा ही बची हैं. ऐसे में बीजेपी उम्मीदवार का निर्वाचन तय है.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button