छत्तीसगढ़ सियासी घमासान के बीच कांग्रेस विधायकों ने दिल्ली में डाला डेरा, आलाकमान के लिए बना सिरदर्द!

रायपुर. छत्तीसगढ़ में बड़ा सियासी घटनाक्रम देखने को मिल रहा है. विधायक विक्रम मंडावी और शिशुपाल सोरी भी दिल्ली जाएंगे. एक विधायक ने बताया कि अभी बड़ी संख्या में विधायक दिल्ली दौरे पर जाएंगे. जो विधायक दिल्ली में हैं, उन्हें वापस आने से रोका गया है.

सूत्रों के मुताबिक, विधायकों को दिल्ली में रुकने को कहा गया है. आज रात को करीब 10 और विधायक दिल्ली रवाना हो रहे हैं. रात 9 बजे की फ्लाइट से दिल्ली रवाना होंगे. शनिवार सुबह भी कुछ और विधायक दिल्ली कूच करेंगे. अभी दिल्ली में करीब 25 विधायक हैं.

छत्तीसगढ़ के सियासी घटनाक्रम पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने आज प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस साहब दोनों ने भी कहा है कि अगर कोई विधायक दिल्ली जाता है, तो कोई मनाही नहीं है. हर कोई चाहता है कि हाईकमान मिले, बात करे. इसमें बुराई क्या है? विधायकों द्वारा हस्ताक्षर युक्त पत्र ले जाने की बात पर कहा कि ऐसा हमारी जानकारी में नहीं है. क्या ले गए, क्या नहीं ले गए, ये विधायक ही बताएंगे. क्या हो रहा, क्या नहीं हो रहा है, ये वे नेता ही बताएंगे, जो दिल्ली गए हैं.”

विधायकों के अनुशासनहीनता पर उन्होंने कहा, “क्या बयान दिए हैं, क्या बयान नहीं दिए हैं, जो मीडिया में बातें आईं हैं, सब संगठन के संज्ञान में है. समय आने पर सब तय होगा क्या करना है, क्या नहीं करना है.”
विधायकों के बाद अब निगम-मंडल के अध्यक्ष भी दिल्ली हो रहे रवाना

ज सत्ताधारी दल के कई विधायक दिल्ली फिर रवाना हो रहे हैं। आज सुबह 4 विधायक दिल्ली चले गए हैं। हाई कमान पर दबाव डालने के लिए निगम-मंडल के अध्यक्ष भी दिल्ली जा रहे हैं। विधायक कुंवर निषाद, विनय भगत, ममता चंद्रकार और लक्ष्मी धु्रव सुबह दिल्ली चले गए हैं। चिंतामणि महाराज को को भी आज दिल्ली जाना था। लेकिन, उनका प्रोग्राम बदल गय है।

छत्तीसगढ़ महिला आयोग की अध्यक्ष किरणमयी नायक आज दिल्ली रवाना हो गई। वहीं, क्रेडा अध्यक्ष मिथिलेश स्वर्णकार शाम को जाएंगे दिल्ली। पता चला है, विधायक रेखचंद जैन, चक्रधर सिदार और अनूप नाग शाम 4ः30 बजे जाएंगे दिल्ली रवाना होंगे। विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी शाम 7ः30 बजे की फ्लाइट से दिल्ली निकलेंगे।

विधायकों की एक बार फिर से दिल्ली दौड़ से सूबे की सियासत गर्म हो गई है। पिछले चार दिनों में करीब 30 कांग्रेस विधायकों ने दिल्ली पहुंचकर डेरा डाल दिया। कांग्रेस के ये विधायक दिल्ली क्यों जा रहे हैं, सबके बयान अलग-अलग हैं। कोई कहता है कि आलाकमान से मिलने जा रहे हैं, तो कोई कहता है निजी काम से आए हैं और कोई दिल्ली घूमने पहुंचा है।

लेकिन एक साथ थोक में कांग्रेस के विधायकों का दिल्ली जाना सामान्य नहीं है, ये सबको पता है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुद कह चुके हैं कि विधायकों का अपने हाईकमान से मिलना गलत नहीं है और आज पीसीसी चीफ मोहन मरकाम ने भी इस पर उठ रहे सवालों को ये कहकर खत्म किया कि विधायकों का आलाकमान से मिलना कोई गुनाह नहीं है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button