महिला नेता से दुष्कर्म मामले में कांग्रेस विधायक का बेटा गिरफ्तार…

इंदौर. मध्य प्रदेश में एक महिला नेता से कथित दुष्कर्म के मामले में उज्जैन जिले के कांग्रेस विधायक मुरली मोरवाल के फरार बेटे करण मोरवाल को पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार किया। पुलिस के मुताबिक शादी का झांसा देकर महिला नेता से दुष्कर्म करने का आरोपी पिछले साढ़े छह महीने से फरार था और उसकी गिरफ्तारी पर 25,000 रुपये का इनाम घोषित था।

स्थानीय महिला थाने की प्रभारी ज्योति शर्मा ने “पीटीआई-भाषा” को बताया कि मुखबिर की सूचना पर करण मोरवाल (30) को इंदौर से करीब 80 किलोमीटर दूर मक्सी के पास से महिला पुलिस और अपराध निरोधक शाखा की संयुक्त टीम ने उस वक्त पकड़ा, जब वह कार से कहीं जा रहा था।

उन्होंने बताया कि पुलिस को इस कार में करण के साथ राहुल राठौड़ नाम का व्यक्ति भी मिला और विधायक पुत्र के फरार होने में राठौड़ की भूमिका की जांच की जा रही है। शर्मा ने बताया, “फरार रहने के दौरान करण अलग-अलग स्थानों पर कुछ दिनों के लिए छिपता था और ठिकाना बदल लेता था।” उन्होंने बताया कि गिरफ्तारी के बाद करण की मेडिकल जांच कराई गई है और उससे पूछताछ जारी है।

महिला थाना प्रभारी ने बताया कि करण को एक स्थानीय अदालत में पेश कर पुलिस हिरासत में भेजने का अनुरोध किया जाएगा ताकि पता चल सके कि फरारी के दौरान वह कहां-कहां छिपा और किन लोगों ने उसकी मदद की। अधिकारियों ने बताया कि करण के खिलाफ इंदौर के महिला थाने में दो अप्रैल को दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया था। अधिकारियों के मुताबिक मामला दर्ज कराने वाली महिला नेता का आरोप है कि विधायक के 30 वर्षीय बेटे ने शादी का झांसा देकर उससे दुष्कर्म किया।

अधिकारियों ने बताया कि करण की तलाश में जुटी पुलिस ने 19 अक्टूबर को उसके छोटे भाई शिवम को इंदौर के महिला थाने लाकर पूछताछ की थी क्योंकि जांच करने वाले अधिकारियों को लगा था कि उसे पता है कि बलात्कार का आरोपी कहां छिपा है।

चश्मदीदों के मुताबिक अपने छोटे बेटे शिवम से पुलिस की पूछताछ के बीच नाटकीय घटनाक्रम के तहत उज्जैन के बड़नगर क्षेत्र के कांग्रेस विधायक मुरली मोरवाल 19 अक्टूबर को इंदौर के महिला थाने से सटे पलासिया थाने पहुंच गए थे और उन्होंने बंद कमरे में पुलिस अधिकारियों से गुप्त चर्चा की थी।

चर्चा के बाद विधायक जैसे ही पलासिया पुलिस थाने से बाहर निकले, मीडियार्किमयों ने उनसे उनके बड़े बेटे करण के साढ़े छह महीने से फरार होने के बारे में सवाल पूछे थे। हालांकि, वह सिर्फ इतना कहकर थाने से तुरंत रवाना हो गए थे कि उन्हें मीडिया के सामने अपना पक्ष नहीं रखना है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button