गठबंधन के बाद यूपी में अकेले चुनाव लड़ने की राह पर कांग्रेस, आज होगा मंथन

शनिवार को सपा-बसपा में सीट शेयरिंग का फॉर्मूला तय होने के बाद मायावती ने यह भी साफ कर दिया कि अगर कांग्रेस इस खेमे में रहती तो सपा-बसपा को इससे कोई लाभ नहीं होता.

लखनऊ।

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) के बीच गठबंधन के बाद कांग्रेस की राह अकेली हो गई है। कांग्रेस की फाइनल रणनीति क्या होगी, रविवार को इसका ऐलान होगा. लेकिन माना जा रहा है कि कांग्रेस यूपी में ‘एकला चलो’ मतलब अकेले चलकर चुनाव लड़ने का मन बना रही है.

शनिवार को सपा-बसपा में सीट शेयरिंग का फॉर्मूला तय होने के बाद मायावती ने यह भी साफ कर दिया कि अगर कांग्रेस इस खेमे में रहती तो सपा-बसपा को इससे कोई लाभ नहीं होता.

कांग्रेस का इस पर क्या स्टैंड है, शनिवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कोई टिप्पणी नहीं की लेकिन इतना जरूर कहा कि रविवार को बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पार्टी अपनी रणनीति बताएगी.

1
Back to top button