छत्तीसगढ़ में स्टिंग पर कांग्रेस हुई सावधान, Whatsapp पर वीडियो कॉल करने की हिदायत

रायपुर।

छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव के पहले स्टिंग से झुलसी कांग्रेस अब लोकसभा चुनाव में फूंक-फूंककर कदम रख रही है। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को आशंका है कि अब सत्ता में आ चुकी कांग्रेस को बदनाम करने की साजिश हो सकती है। इस कारण वरिष्ठ नेताओं और प्रमुख पदाधिकारियों को अलर्ट रहने के लिए कहा जा रहा है। पीपीसी अध्यक्ष तक का वायरल हुआ था वीडियो विधानसभा चुनाव के पहले टिकट की सौदेबाजी वाला वीडियो वायरल हुआ था।

उसके बाद धरसींवा के एक ब्लॉक अध्यक्ष का दावेदार से पैसा मांगने का ऑडियो वायरल हुआ। टिकट के सौदेबाजी वाले वीडियो में भाजपा ने पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल को घेरने की पूरी कोशिश की। कांग्रेस के आला नेताओं के बीच भी कुछ दूरी बढ़ गई थी, लेकिन चुनाव आते तक उस वीडियो की हवा निकल गई थी। जनता के बीच कांग्रेस के खिलाफ वायरल वीडियो और ऑडियो की चर्चा ही नहीं हुई।

व्हाट्सएप वीडियो कॉलिंग की दी गई हिदायत

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया से लेकर दूसरे वरिष्ठ नेता आपस में भी एहतियान व्हाट्सएप वीडियो कॉलिंग पर बात करने लगे थे। अब लोकसभा चुनाव आ गया है, तो कांग्रेस को फिर से किसी साजिश की चिंता सता रही है। छत्तीसगढ़ कांग्रेस के आला नेताओं को इस बात की भी आशंका है कि विपक्ष के लोग खुद ड्रामा करके वीडियो बना सकते हैं और उसमें दिखने वालों को कांग्रेसी बताकर उसे वायरल कर सकते हैं। इस कारण मोर्चा, संगठन, प्रकोष्ठ और विभागों के पदाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में अलर्ट रहने के लिए कहा जा रहा है।

भोपाल में वायरल हुआ वीडियो

इस बीच शनिवार को भोपाल एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें यह बताया गया कि राहुल गांधी के कार्यक्रम में भीड़ जुटाने के लिए मिसरोद क्षेत्र के 11 मिल चौक पर कांग्रेसियों ने पंडाल लगाकर बीयर बांटी थी। वीडियो में पंडाल के आसपास कांग्रेस के झंडे वाले वाहन भी दिखाए गए हैं।

Back to top button