सीसीए, एनपीआर को लेकर कांग्रेस पार्टी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पर निशाना साधा

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने इसे लेकर एक ट्वीट किया

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की सरकार कांग्रेस, एनसीपी और समाजवादी पार्टी जैसी सूबे की दूसरी छोटी पार्टियों के विधायकों के समर्थन पर टिकी हुई है.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह से शुक्रवार रात दिल्ली में मुलाकात के बाद कहा था कि सीएए और एनपीआर प्रदेश में लागू करने पर उनकी सरकार कायम है.

वहीं इस पूरे मामले पर राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख का कहना है कि मुख्यमंत्री ने जो भी कहा उसप र उन्हें कोई प्रतिक्रिया नहीं देनी है, लेकिन नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NPR) का पूरा मामला तीनों पार्टियों की समन्वय समिति के पास जाएगा और समिति जो फैसला करेगी, उसे राज्य शासन की तरफ से बताया जाएगा.

वहीं कांग्रेस पार्टी ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NPR) पर शिवसेना की भूमिका को लेकर कांग्रेस पार्टी ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पर निशाना साधा है. कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने इसे लेकर एक ट्वीट किया है,

जिसमें उन्होंने कहा है कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री नागरिकता संशोधन कानून, नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (NRC) के बीच जो कड़ियां हैं, उसे समझाएं कि किस तरह एनपीआर और एनआरसी जुड़े हुए हैं. एनपीआर इसके लिए आधार की तरह काम करेगा.

इसके साथ ही तिवारी ने कहा कि एक बार एनपीआर लागू हो गया, तो एनआरसी को कोई रोक नहीं सकता. मनीष तिवारी ने कहा कि सीएए को भारतीय संविधान के अनुसार बदला जाना चाहिए, क्योंकि नागरिकता कानून धर्म के आधार पर नहीं बनाया जा सकता.

Tags
Back to top button