छत्तीसगढ़बड़ी खबरराजनीतिराज्यराष्ट्रीय

केंद्र सरकार के खिलाफ कांग्रेस का 15 नवंबर को धरना प्रदर्शन,मुख्यमंत्री बघेल,PPC चीफ समेत छत्तीसगढ़ के किसान होंगे शामिल

आज राजीव भवन में कांग्रेस की बैठक में फैसला लिया गया केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ छत्तीसगढ़ कांग्रेस दिल्ली में जोरदार प्रदर्शन करेगी।

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पीसीसी चीफ मोहन मरकाम के नेतृत्व में 15 नवम्बर को केंद्र सरकार के खिलाफ कांग्रेस धरना प्रदर्शन करेगी। केन्द्र की किसान विरोधी नीतियों और सेंट्रल पूल कोटे के तहत राज्य का चावल नहीं खरीदे जाने के विरोध में कांग्रेस धरना देगी।

13 नवंबर को कांग्रेस के नेताओं के साथ प्रदेश के किसान भी दिल्ली पहुंचेंगे। इस दौरान किसान पीएम आवास भी जाएंगे।

बता दें कि रविवार को इसको लेकर राजीव भवन में बैठक आयोजित की गई। केंद्र सरकार की नीतियों का विरोध 5 नवंबर से शुरू होगा, जो 15 को दिल्ली में प्रदर्शन के बाद खत्म होगा। बैठक के बाद आंदोलन की रणनीति की जानकारी प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने प्रेसवार्ता करके बताया।

प्रदेश प्रभारी पुनिया ने बताया कि 5 नवंबर से लेकर 12 नवंबर तक प्रदेश के ब्लाक व जिला मुख्यालयों में आंदोलन किया जायेगा। किसानों से हस्ताक्षर लिये जायेंगे, केंद्र सरकार की नीतियों की नाकामी का पोस्टर किसानों व ग्रामीणों के बीच बांटे जायेंगे।

ब्लाक व जिला मुख्यालयों से किसान 12 नवंबर की शाम तक रायपुर पहुंचेंगे और फिर 13 नवंबर की सुबह 9 बजे रायपुर से दिल्ली के लिए सड़क मार्ग से कूच करेंगे।प्रेसवार्ता के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि किसान अपने-अपने संसाधनों के साथ रायपुर पहुंचेंगे और फिर 13 नवंबर की सुबह उन्ही गाड़ियों से दिल्ली के लिए कूच करेंगे।

इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि सरकार ने तय किया है कि किसी भी सूरत में किसानों से 25 सौ रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से ही धान की खरीदी करेंगे। उन्होंने कहा कि बारिश की वजह से, धान में नमी की वजह से धान खरीदी की तारीख1 दिसंबर से खरीदने का फैसला लिया है।

CM भूपेश ने कहा कि केंद्र सरकार छत्तीसगढ़ के विकास के हर कदम पर रोड़ा डाल रही है।लेकिन छत्तीसगढ़ के विकास के लिए हर लड़ाई लड़ेंगे।बैठक में कांग्रेस के सभी बड़े नेता मौजूद रहे।

जिसके बाद यह निर्णय लिया गया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि प्रधानमंत्री के नाम किसानों की पाती लिखी जाएगी। सभी ग्रामों के किसानों का हस्ताक्षर लिया जाएगा। उस पत्र को हम दिल्ली लेकर पीएम आवास जाएंगे।

Tags
Back to top button