ओछी राजनीति नहीं, राहुल गांधी को चौथी की बजाए छठी कतार में बैठाने की ये थी वजह

मोदी सरकार ने गणतंत्र दिवस समारोह पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को चौथी की बजाय छठी कतार की सीट में जानबूझकर नहीं बैठाया था, बल्कि स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) की अपील पर ऐसा किया गया था.

मोदी सरकार ने गणतंत्र दिवस समारोह पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को चौथी की बजाय छठी कतार की सीट में जानबूझकर नहीं बैठाया था, बल्कि स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (SPG) की अपील पर ऐसा किया गया था.

हालांकि यह पहली बार था, जब कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष को गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान राजपथ पर पहली पंक्ति में जगह नहीं दी गई थी. वहीं, इस घटना से भड़की कांग्रेस लगातार मोदी सरकार पर हमला बोल रही है और ओछी राजनीति करने का आरोप लगा रही है.

शुक्रवार को राहुल गांधी गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल हुए, तो उनको राजपथ पर छठी कतार में बैठाया गया. सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी को पहले चौथी पंक्ति की सीट आवंटित की गई थी, लेकिन बाद में SPG की अपील पर बदल दी गई.

इसके बाद राहुल गांधी को चौथी की बजाय छठी कतार पर किनारे की सीट पर बैठना पड़ा. सूत्रों का कहना है कि SPG ने सुरक्षा कारणों के चलते राहुल को चौथी की बजाय छठी पंक्ति की सीट देने की अपील की थी.

SPG का मानना था कि कोई घटना होने की स्थिति में चौथी कतार की बजाय छठी कतार से जल्दी निकला जा सकता है. लिहाजा राहुल की सुरक्षा को देखते हुए छठी कतार की सीट उनके लिए ज्यादा बेहतर थी.

मालूम हो कि शुक्रवार को गणतंत्र दिवस समारोह में राहुल गांधी चौथी पंक्ति में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद के बगल में बैठे नजर आए थे, जबकि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी उनसे दो पंक्ति आगे बैठी दिखी थीं.

उधर, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पहली पंक्ति में बैठे थे. समारोह के बाद कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर करारा हमला बोला था. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जान बूझकर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को छठी पंक्ति में बैठाया.

सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि मोदी सरकार की ओछी राजनीति जग जाहिर हो गई है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को गणतंत्र दिवस के राष्ट्रीय पर्व पर अंहकारी शासकों ने सारी परंपराओं को दरकिनार करके पहले चौथी पंक्ति और फिर छठी पंक्ति में जानबूझकर बैठाया. हालांकि हमारे लिए संविधान का उत्सव ही सर्व प्रथम है.

इस बार गणतंत्र दिवस समारोह में आसियान के 10 राष्ट्राध्यक्ष बतौर मुख्य अतिथि शामिल रहे. राजपथ में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहली पंक्ति में बैठे थे.

वहीं, गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत वरिष्ठ केंद्रीय मंत्री दूसरी पंक्ति में बैठे दिखे. मालूम हो कि गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर होने समारोह में सीट आवंटन रक्षा मंत्रालय करता है.

advt
Back to top button