उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 1700 वोटों से आगे

राहुल गांधी इससे पहले 3 बार सांसद चुने जा चुके

अमेठी: उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 1700 वोटों से आगे चल रहे हैं। स्मृति ने जबरदस्त प्रचार किया था और राहुल गांधी पर प्रहार भी खूब किए थे। राहुल गांधी के वायनाड सीट से लड़ने को भी स्मृति ने बड़ा मुद्दा बनाया था।

2014 में भी इन्हीं दो नेताओं के बीच मुकाबला हुआ था। तब स्मृति करीब 1 लाख वोट से हार गई थीं। लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में 6 मई, सोमवार यहां मतदान हुआ था। राहुल गांधी इससे पहले 3 बार सांसद चुने जा चुके हैं। उन्होंने 2004 में पहली बार अमेठी से चुनाव जीता था। उनसे पहले इस सीट से उनकी मां सोनिया गांधी सांसद थीं।

अमेठी में सिर्फ एक बार जीती है भाजपा: 1967 में अस्तित्व में आने के बाद अमेठी सीट कांग्रेस का गढ़ रही है। 1977-80 का दौर छोड़ दें तो यह सीट हमेशा कांग्रेस की झोली में रही। 1998 के लोकसभा सीट में भाजपा पहली और एक मात्र बार जीती थी। तक संजय सिंह को यहां की जनता ने आशीर्वाद दिया था, लेकिन भाजपा यह जीत कायम नहीं रख सकती और 1999 से फिर कांग्रेस का कब्जा है। कुल मिलाकर अब तक हुए 15 चुनावों में 13 बार कांग्रेस जीती है।

संजय गांधी और राजीव गांधी की सीट है अमेठी : अमेठी से गांधी परिवार का पुराना नाता रहा है। 1980 में इंदिरा गांधी के बेटे संजय गांधी को यहां से चुनावी मैदान में उतारा था। संजय के निधन के बाद उनके बड़े भाई राजीव गांधी यहीं से उपचुनाव जीते थे। राजीव गांधी 1991 में अपने निधन तक यानी चार बार यही से सांसद रहे। इसके बाद सोनिया गांधी और फिर राहुल गांधी सांसद चुने गए।

Back to top button