वोट के लिए कांग्रेस उठा रही है NRC पर सवाल – अमित शाह

नई दिल्ली: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि संसद में मुझे बोलने नहीं दिया। उन्होंने कहा कि ये मेरे लिए दुर्भाग्य की बात है कि मैं अपनी बात नहीं रख पाया। इसलिए प्रेस कॉन्फ्रेंस करनी पड़ी। ‘नागरिकता विवाद पर बोलते हुए शाह ने कहा कि राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) में किसी भारतीय का नाम नहीं कटेगा। इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि वोट के लिए कांग्रेस एनआरसी पर सवाल उठा रही है। शाह ने कहा, ‘पिछले दो दिनों से देश में एनआरसी के उपर बहस चल रही है और यह कहा जा रहा है कि 40 लाख भारतीयों नागरिकों को अवैध घोषित कर दिया गया है जबकि वास्तविकता है कि प्राथमिक जांच होने के बाद जो भारतीय नहीं है उनके नाम NRC से हटाए गए हैं।

इससे पहले अमित शाह ने असम में एनआरसी को 1985 में कांग्रेस द्वारा घोषित योजना का परिणाम बताते हुए कहा कि इसे लागू करने की कांग्रेस में हिम्मत नहीं थी इसलिए यह योजना अब तक लंबित रही। असम में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के मुद्दे पर आज राज्यसभा में चर्चा में हिस्सा लेते हुये शाह ने कहा कि 1985 में तत्कालीन प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने असम समझौते के तहत एनआरसी बनाने की घोषणा की थी। एनआरसी को असम समझौते की आत्मा बताते हुये उन्होंने कहा एनआरसी को अमल में लाने की कांग्रेस में हिम्मत नहीं थी, हममें हिम्मत है इसलिए हम इसे लागू करने के लिए निकले हैं।

new jindal advt tree advt
Back to top button