छत्तीसगढ़राजनीति

कांग्रेस ने रमन सिंह के कार्यकाल में हुए घोटालों को लेकर जारी किया वीडियो

पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के खिलाफ कांग्रेस आक्रामक

रायपुर:प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के खिलाफ 15 साल के कार्यकाल में हुए घोटालों को लेकर एक वीडियो जारी करने का हवाला देकर कहा कि सिर से लेकर पैर तक जो घोटालों की कालिख से रंगे हुए हैं, जिनके कर्म नहीं कुकर्म छत्तीसगढ़ के कोने-कोने में गूंजते हैं, पाप और पुण्य के रजिस्टर में जिनके नाम सिर्फ पाप दर्ज हैं, ऐसे लुटेरे प्रवृत्ति के लोगों को हक नहीं बनता कि कांग्रेस के 18 महीने की सरकार पर सवाल उठाएं।

कांग्रेस ने सोशल मीडिया पर शटअप रमन स्कैम सिंह कैंपेन भी चलाया है। यह कैंपेट ट्वीटर पर ट्रेंड कर रहा है। इस कैंपेन में कांग्रेस नेता रमन सरकार के कार्यकाल में हुई गड़ब़डियां उजागर की जा रही हैं। इसमें शिक्षाकर्मियों का संविलियन नहीं करने और प्रदेश में नक्सलवाद को बढ़ावा देने के लिए सरकार की नीतियों को दोषी बताया गया है।

मनरेगा में सिर्फ 35 दिन रोजगार मिलने, रोजगार के नाम पर झूठे वादे करने और 20 लाख शिक्षित बेरोजगारों को लेकर रमन सरकार पर आरोप लगाए जा रहे हैं। टाटा को लोहांडीगुड़ा की जमीन से लेकर शराब की अवैध बिक्री पर रमन को घेरा जा रहा है।

प्रदेश में लाकडाउन खत्म होने के बाद बड़े रोजगार को लेकर भी कांग्रेस ने कैंपेन शुरू किया है। छत्तीगसढ़ कांग्रेस ने ट्वीट किया- एक तरफ भाजपा के घोटालों का अंबार, एक तरफ कांग्रेस ला रही खुशियां अपार।

सावन का महीना लाया खुशियों की फुहार : सीएम

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चार माह में साढ़े पांच सौ करोड़ के पूंजी निवेश को लेकर ट्वीट किया है। सीएम ने ट्वीट किया-सावन का महीना लाया खुशियों की फुहार, अनलॉक होते ही उद्योगों ने पकड़ी रफ्तार। इस पर मोहन मरकाम ने कहा, जब संकल्प दृढ़ हो, नेतृत्व दूरदर्शी, नीति जनहितैषी, नीयत पूर्णत निश्छल, तब शासन सुशासन में बदलता है।

केंद्र की मोदी सरकार देश के लिए नुकसानदेह साबित हुई: मरकाम

इधर, पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम ने मोदी मंत्रीमंडल के आज के फैसलों को मजदूर, किसानों, व्यापार जगत, नौजवानों और मजदूरों के लिये सिर्फ दिखावा और औपचारिकता का निर्वहन निरूपित किया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि देश की बिगड़ी आर्थिक व्यवस्था इन कृत्रिम उपायों से सुधरने वाली नहीं है।

नोटबंदी, गब्बर सिंह टैक्स, जीएसटी, बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दाम, बढ़ती महंगाई, बढ़ती बेरोजगारी की मार झेल रहे अर्थव्यवस्था कर्ज बांटने वाले लोन मेलों की निरंतरता से सुधरने वाली नहीं है. कर्ज से मोदी के नीरव मोदी, मेहुल चौकसी विजय माल्या जैसो की स्थिति सुधर गई. देश को आज गंभीरता से काम करने वाले अर्थशास्त्री की आवश्यकता है।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा है कि भारतीय अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने और कोविड महामारी से प्रभावी ढंग से लडऩे के लिए कांग्रेस पार्टी और उसके नेतृत्व अर्थात सोनिया गांधी और राहुल गांधी की ओर से बार-बार अनुरोध और सकारात्मक लिखित सुझावों के बावजूद, मोदी सरकार अपने अहंकार में कुछ भी करने में विफल रही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button