भाजपा प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक के मंत्रिमंडल गठन के बयान पर कांग्रेस का पलटवार

रायपुर।

कांग्रेस सरकार के मंत्रिमंडल गठन का स्वागत करते हुए प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि कांग्रेस ने बेहद संतुलित और सभी क्षेत्रों के, सभी वर्गों के, सभी समाजों के प्रतिनिधित्व का ध्यान रखते हुए बहुत अच्छा मंत्रिमंडल बनाया है।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के बयान पर पलटवार करते हुए प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि 15 वर्षो तक क्षेत्रीय और सामाजिक संतुलन का परवाह किये बगैर सरकार चलाने वाली भाजपा को कोई हक नहीं पहुंचता कि वह कांग्रेस मंत्रिमंडल पर इस तरह की टिप्पणी करें।

हाथ से प्रदेश की सत्ता चले जाने पर बौखलाहट ही कौशिक के बयान में साफ झलक रही है। कांग्रेस जिस तरह से पूरी एकता का काम कर रही है और अच्छा मंत्रिमंडल बना है, उससे भी धरमलाल कौशिक बौखलाये हुये है।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कांग्रेस में असंतोष पर टिप्पणी करने वाले धरमलाल कौशिक से कहा है कि जब 2000 में नेता प्रतिपक्ष का चुनाव करना था तब भाजपा में क्या हुआ था, वह पूरा छत्तीसगढ़ को याद है। लखीराम अग्रवाल की कार जलाई गयी थी।

उस समय भाजपा विधायक दल की बैठक के लिये पर्यवेक्षक बनकर आये नरेन्द्र मोदी को जिस तरह से स्टूल के पीछे दुबककर छिपना पड़ा था और जिस तरह से भाजपा में आगजनी और पथराव हुआ था, कौशिक जी उसे न भूलें तो उचित होगा।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि भाजपा के प्रधानमंत्री मोदी और अध्यक्ष अमितशाह दोनों एक ही प्रांत गुजरात से आते है। उसी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक द्वारा कांग्रेस मंत्रिमंडल पर इस तरह की टिप्पणी उचित नहीं है। कांग्रेस मंत्रिमंडल पर टिप्पणी करने के पहले धरमलाल कौशिक भाजपा की स्थिति को देख लेंते तो उचित होता।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रमन सिंह, बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर पर गंभीर आरोप और सुस्पष्ट प्रमाण होने के बावजूद जिस भाजपा ने और भाजपा की सरकार ने जांच तक नहीं होने दी उस भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक द्वारा राजनैतिक प्रतिशोधवश बनाये गये मामलों को लेकर कांग्रेस मंत्रिमंडल पर ऐसी बयानबाजी उचित नहीं है।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि दुर्ग संभाग महज एक संभाग नहीं है। इसमें तीन लोकसभा सीटें भी आती है। मुख्यमंत्री के निवास कवर्धा में और पूरी संसदीय क्षेत्र में जो भाजपा की तबाही हुयी, इससे बौखलाकर यह बयान धरमलाल कौशिक दे रही है। इनकी बौखलाहट का एक और कारण यह भी है कि बस्तर, सरगुजा, कांकेर, महासमुंद, राजनांदगांव में भाजपा जिस तरह से अपना आधार खो चुकी है। इसी बौखलाहट में धरमलाल कौशिक इस तरह का असंतुलित बयान दे रहे है।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि दुर्ग संभाग में राजनांदगांव लोकसभा से मोहम्मद अकबर विधायक कवर्धा को स्थान दिया जाना भाजपा के लिए परेशानी का कारण बन गया है।

पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह अब कवर्धा में नेतृत्व का केंद्र अकबर भाई के बन जाने से परेशान और दुखी है और रमन सिंह जी की यही बौखलाहट रमन सिंह के यसमैन रहे धर्मलाल कौशिक के बयान सें झलकती है। अनिला भेड़िया कांकेर लोकसभा का प्रतिनिधित्व कर रही हैं और एक सशक्त आदिवासी महिला नेता हैं और उन्हें भी दुर्ग संभाग के कोटे में डालकर धरमलाल कौशिक ने महिलाओं के प्रति और आदिवासियों के प्रति अपनी दुर्भावना ही उजागर की है।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि ताम्रध्वज साहू, रविंद्र चौबे और गुरू रूद्र कुमार को संभाग की सीमा से बांधकर धरमलाल कौशिक यह समझने में असमर्थ रहे हैं कि ताम्रध्वज साहू पूरे प्रदेश में साहू समाज का 12 वर्षों तक नेतृत्व समाज के अध्यक्ष के रूप में कर चुके। ताम्रध्वज साहू केवल एक विधायक नहीं कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य और पिछड़ा वर्ग कांग्रेस में राष्ट्रीय अध्यक्ष भी है।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि इसी तरह गुरू रूद्र कुमार न केवल एक विधायक हैं बल्कि विधायक होने के साथ-साथ समाज में गुरु के रूप में सम्मानित हैं और सतनामी समाज से वरिष्ठ विधायक डॉ. शिवकुमार डहरिया के साथ-साथ गुरू रूद्र कुमार का मंत्री बनाना सिर्फ एक विधायक का मंत्री बनाया जाना नहीं बल्कि समाज की शक्ति का सम्मान भी है जो धरमलाल कौशिक की संकुचित मानसिकता के गले नहीं उतर रहा है।

प्रदेश कांग्रेस के संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है कि रविंद्र चौबे पहले भी कांग्रेस विधायक दल के नेता के रूप में प्रदेश स्तर पर नेतृत्व कर चुके हैं और उनके संसदीय ज्ञान से भाजपा भयभीत है और भाजपा का यही डर, यही भय प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक के बयान से उजागर होता है।

advt
Back to top button