पंजाब में कांग्रेस को झटका, मंत्री पद नहीं मिलने से नाराज दो विधायको ने पार्टी छोड़ी

संगरूर जिले के अमरगढ़ से विधायक सुरजीत सिंह धीमान और फजिल्का के बलुआना से विधायक नत्थू राम ने छोड़ी पार्टी

चंडीगढ़ : कांग्रेस पार्टी को पंजाब में बड़ा झटका लगा हैं. मंत्रीमंडल में जगह नहीं मिलने से नाराज दो विधायको ने पार्टी छोड़ने का फैसला लिया हैं. इन में संगरूर जिले के अमरगढ़ से विधायक सुरजीत सिंह धीमान और फजिल्का के बलुआना से विधायक नत्थू राम है जिन्होंने अपना इस्तीफा पंजाब प्रदेश कांग्रेस के प्रमुख सुनील जाखड़ को सौपा.

बता दे की राहुल गांधी और पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिदंर सिंह के बीच नई दिल्ली में बैठक के बाद शुक्रवार को नौ नए मंत्रियों के नामों पर मुहर लगाई थी. जिसमे सुरजीत सिंह और नत्थू राम के नाम नहीं थे. जिससे दोनों विधायक नाराज चल रही थे. और नए मंत्रिओं के शपथ से ठीक पहले इन्होने अपना इस्तीफा देकर पार्टी झटका दे दिया.

नत्थू राम ने इस्तीफा देते समय कहा पार्टी द्वारा दलित समुदाय की उपेक्षा के कारण मैंने यह कदम उठाया है. विधायक राम ने कहा, “मंत्रिमंडल विस्तार में मंत्री पद नहीं दिये जाने से दलित अपमानित महसूस कर रहे हैं.’ उन्होंने कहा, ‘पंजाब में दलितों की आबादी 34 फीसदी है और अगर हम इस आंकड़े पर गौर करें तो मंत्रिमंडल में कम-से-कम पांच दलित मंत्री होने चाहिएं.” वहीं, सुरजीत सिंह के पीपीसीसी के उपाध्यक्ष पद इस्तीफे की घोषणा उनके बेटे जसविंदर धीमान ने की.

Back to top button