छत्तीसगढ़

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा किसानों का धान खरीदने लिए बारदानों का इंतजार, राज्य से सौतेला व्यवहार कर रही मोदी सरकार

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार को सौतेला व्यवहार नहीं करना चाहिये और प्रदेश के भाजपा नेताओं को किसान हित में काम करना चाहिये।

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं सचिव विकास तिवारी ने केंद्र की मोदी सरकार पर तीखा हमला करते हुए कहा कि जहां एक ओर प्रदेश भाजपा कह रही है कि किसानों के द्वारा अपनी फसल की कटाई की जा चुकी है वहीें दूसरी ओर केंद्र की मोदी सरकार को राज्य की भूपेश सरकार के द्वारा किसानों की फसल खरीदी हेतु साढ़े चार लाख बारदाना गठानों की आवश्यकता बताई गई थी, जिसके एवज में मात्र डेढ़ लाख बारदाना गठानों की उपलब्धता केंद्र सरकार द्वारा कराई गई जिसमें कि मात्र अड़तालीस हजार बारदाना गठानों को प्रदेश में भेजा गया है जो कि भाजपा के दोहरे चरित्र को उजागर करता है।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि भगवान राम के ननिहाल के किसानों के साथ सौतेला व्यवहार जायज नहीं है, वहीं दूसरी ओर प्रदेश भाजपा के शीर्ष नेता केंद्र सरकार के कैकई रूपी व्यवहार का साथ मंथरा बन के दे रहे है। प्रदेश के भाजपा नेता द्वारा भ्रामक प्रचार करके किसानों को बरगलाया जा रहा है, जबकि प्रदेश के किसान यह जान चुके हैं कि केंद्र की मोदी सरकार का व्यवहार किसान विरोधी है और प्रदेश के सरकार द्वारा मांगे गए साढ़े चार लाख बारदाना गठानों की उपलब्धता जानबूझकर नहीं कराई गई जिस पर मंथरा जैसा रूप धर प्रदेश के भाजपा नेता व्यवहार कर रहे हैं जो कि अनुचित है, उन्हें केंद्र की मोदी सरकार को प्रदेश की वस्तुस्थिति को स्पष्ट रूप से बताना चाहिये।

कांग्रेस प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार को सौतेला व्यवहार नहीं करना चाहिये और प्रदेश के भाजपा नेताओं को किसान हित में काम करना चाहिये। प्रदेश के किसानों के द्वारा अपनी फसलों की कटाई करके और प्रदेश सरकार द्वारा पच्चीस सौ रु धान समर्थन मूल्य में बेचने के लिए उन्हें बारदाना गठानों की आवश्यकता है राजनीति से ऊपर उठकर केंद्र की मोदी सरकार को तत्काल प्रदेश सरकार द्वारा मांगे गए साढ़े चार लाख बारदाना गठानों को उपलब्ध करवाना चाहिये।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button