उत्तर प्रदेशराजनीति

सत्ता वापसी को संघर्ष करती काँग्रेस…मजबूती से वापसी की तैयारी में

काँग्रेस पार्टी की एक बड़ी उपलब्धि

ब्युरो चीफ : विपुल मिश्रा

उत्तर प्रदेश काँग्रेस इस समय आक्रामक तेवर मे हैं,राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रभारी उत्तर प्रदेश प्रियंका गाँधी के दिशा निर्देशन में यूपी काँग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू के इंकलाबी तेवर के साथ पूरे प्रदेश में अपनी मजबूत मौजूदगी दर्ज करा रही है,डाक्टर कफील की रिहाई के लिये विधानसभा सत्र में “डाक्टर कफील को रिहा करो”वाला बैनर जो लल्लू जी लहरा रहे थे,बहुत से मुसलमान युवाओ ने उसे अपनी प्रोफाइल फोटो पर लगाया है,

काँग्रेस पार्टी की एक बड़ी उपलब्धि

यह काँग्रेस पार्टी की एक बड़ी उपलब्धि है,क्योंकि मुसलमान कभी काँग्रेस का मुख्य वोट माना जाता था,धीरे धीरे ही सही पुन; पार्टी की तरफ वापस आता दिख रहा है, ब्राह्मण वैसे भी योगी सरकार से बहुत नाराज है,और अगर काँग्रेस इन्हें अपने पाले में लाने में कामयाब हुयी तो एक बड़ा वोट बैंक पार्टी के साथ जुड़ जायेगा ,क्योंकि ब्राह्मण एक ऐसी जाति है जो और भी कई अन्य जातियों को अपने साथ लाने का माद्दा रखती है, यूपी की राजनीति में आप की छटपटाहट भी साफ दिखायी दे रही है,

आप सांसद संजय सिंह ब्राह्मणों पर अत्याचार को लेकर योगी सरकार को घेर रहे हैं, लेकिन लोगों पर इसका कोई खास असर नही दिख रहा,क्योंकि सब जानते हैं यह संजय सिंह का राजनैतिक दाँव हैं,कई ब्राह्मण युवा सवाल कर रहे हैं कि डाक्टर कुमार विश्वास का जिस तरह का अपमान राज्यसभा चुनाव में आप ने किया है वह जग जाहिर है, संजय सिंह की मौकापरस्त राजनीति से सब परिचित है,

कुल मिलाकर लड़ाई दिलचस्प होती जा रही है, गाँव जवार में काँग्रेस की चर्चा दमदारी से शुरु हो चुकी है, प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू के बारे में लोग यहाँ तक कह रहे हैं कि पीड़ित के पास पुलिस बाद में पहुँचती है लल्लू पहले पहुँच जाते हैं, उनका रोड पर उतरकर संघर्ष करना भी युवाओं को बहुत प्रभावित कर रहा है, ऊपर से बेरोजगारी ,और कानून व्यवस्था को लेकर भी युवा योगी जी खासा नाराज है, आश्चर्य नही होना चाहिये जब काँग्रेस आने वाले विधानसभा चुनाव में सरकार बनाती हुयी दिखे,बस संगठन को अभी और धार देने की जरुरत है

राजेश तिवारी
युवा राजनैतिक विश्लेषक

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button