राजनीति के लिए संसद बनी है कोर्ट को बख्श दे कांग्रेस: धरमलाल कौशिक

सुप्रीम कोर्ट से आए फैसले से कांग्रेस पार्टी हुई बेनकाब

रायपुर। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने सर्वोच्च न्यायालय के जज लोया की मौत पर आए फैसले पर खुशी जताते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश गंभीर संदेश लेकर आया कि कोर्ट को याचिका के जरिए राजनीतिक हित साधने का अखाड़ा न बनाए।

कौशिक ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने संसद में बहस बंद कर कोर्ट को राजनीतिक अखाड़ा बना देश की जनता व सर्वोच्च संस्था का समय बर्बाद करने का कार्य किया है। यह उन लोगों के साथ नाइंसाफी है जो वर्षों से न्याय के लिए न्यायालय गए हुए हैं। इस प्रकार के जनहित याचिका से कोर्ट का समय बर्बाद कर रहे हैं, यह उन कांग्रेस पार्टी के लोगों को विशेषकर राहुल गांधी के करीबीयों को समझना होगा जो संसद में बहस नहीं करना चाहते लेकिन, कोर्ट जा कर राजनीति करना चाहते हैं।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि जब चुनाव हार जाते है तो ईवीएम मशीन खराब कहते हैं, यदि जीत जाते है तो ईवीएम ठीक। 2-जी मामले में फैसला यूपीए सरकार के पक्ष में आया तो न्यायालय पर पूर्ण विश्वास यदि पक्ष में फैसला नहीं आया तो कोर्ट पर प्रश्न खड़ा करना यह लोकतंत्र के लिए अच्छा नहीं है।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के करीबी ने भाजपा को बदनाम करने के लिए बड़ी चतुरता से जनहित याचिका दायर कर गुजरात चुनाव में फायदा उठाने के लिए ऐसा किया था और अब सुप्रीम कोर्ट से आए फैसले से कांग्रेस पार्टी बेनकाब हुई। याचिकाकर्ता राहुल गांधी के करीबी है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की दुहाई देने वाले सर्वोच्च संस्था को तो बख्श दें।

Back to top button