छत्तीसगढ़

किसानों के लिए सड़क पर उतरे कांग्रेसी, 444 गिरफ्तार

रायपुर : प्रदेश के 13 लाख किसानों को बोनस देने की घोषणा के बाद से कांग्रेस ने सरकार को घेरना शुरु किया। कांग्रेस का कहना है कि सरकार प्रदेश के 37 लाख किसानों की अनदेखी कर रही है। सरकार ने किसानों को प्रतिवर्ष बोनस देने की घोषणा की थी जिस पर सराकर सत्ता में आई। और सिर्फ 1 वर्ष का बोनस दिया जा रहा है वो भी कुछ किसानों को। इन मुद्दों पर प्रदेश कांग्रेस और किसान कांग्रेस बड़ी तादाद में छत्तीगसढ़ विधानसभा घेरने निकले। इन्हें पुलिस ने बैरिकेट लगाकर रोक लिया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल सहित कांग्रेस के कई दिग्गज नेताओं से पुलिस की झूमाझटकी हुई। कई गिरफ्तार कर लिए गए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर विजय अग्रवाल ने कहा कि राजधानी में 444 कांग्रेसियों को गिरफ्तार किया गया था।

कांग्रेसियों ने प्रदेश सरकार को जमकर कोसा : घेराव के पूर्व सभा में प्रदेश कांग्रेस प्रभारी पीएल पुनिया और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने सरकार को जमकर कोसा। पुनिया ने कहा कि कांग्रेस ही किसानों की सच्ची हितैषी है। प्रदेश सरकार ने किसानों को हमेशा धोखा दिया है। विगत दो दिनों में भी किसानों ने आत्महत्या की है। यह सरकार की गलत नीतियों का नतीजा है। भूपेश बघेल ने कहा कि सरकार बोनस के मुद्दे पर किसानों के सामने कटघरे में खड़ी है। प्रदेश भर के किसान आंदोलन कर रहे हैं और इसका कारण रमन सरकार है।
विधानसभा मार्ग पर पण्डरी में लोधीपारा के पास कांग्रेस ने मंच लगाया था। प्रदेश भर के कांग्रेस नेताओं और किसानों को यहां पहुंचना था, लेकिन सभी नेता और आंदोलित किसानों को उनके जिलों में ही रोक लिया गया। यह सिलसिला गुरुवार से ही आंरभ हो गया था। आज जैसे जैसे कांग्रेसी लोधीपारा के पास जुटने लगे। एक घेरे को तोड़कर कांग्रेसी आगे बढ़े जिन्हें पुलिस ने रोक लिया। बड़ी संख्या में मौजूद पुलिस जवानों से झूमाझटकी होती रही और अंत में पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इस अवसर पर प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, सचिव कमलेश्वर पटेल, अरूण उरांव, मोहम्मद अकबर सहित अन्य कांग्रेसी बड़ी संख्या में थे।

05 Jun 2020, 7:25 AM (GMT)

India Covid19 Cases Update

236,091 Total
6,649 Deaths
113,231 Recovered

Back to top button