शराब की होम डिलीवरी को लेकर केंद्रीय मंत्री के ट्वीट पर कांग्रेस का पलटवार

‘यूपी में आपके मोदी साहेब तो सीधा दारू की दुकानें खुलवा दिए’

रायपुर। राज्य में शराब की होम डिलीवरी को लेकर राज्य सरकार जहां एक ओर विपक्ष के निशाने पर है वहीं दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी ट्वीटर के माध्यम से छत्तीसगढ़ सरकार पर हमला बोला, जिसके जवाब ने छत्तीसगढ़ कांग्रेस ने पलटवार करते हुए हरदीप सिंह पुरी को भाजपा नीत राज्य उत्तरप्रदेश में लॉकडाउन में शराब दुकान खुलने और लंबी कतारे लगी होने का हवाला दिया।

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने अपने ट्वीटर में लिखा कि ‘कांग्रेस पार्टी का पाखंड देखो! ऐसे समय में जब नागरिकों की जान दांव पर है और हम ऑक्सीजन की आपूर्ति, सिलेंडर, चिकित्सा उपकरण, अस्पताल के बिस्तर और दवाइयों को सुनिश्चित करके जीवन बचाने के लिए युद्धस्तर पर लगे हुए हैं, छत्तीसगढ़ में उनकी प्राथमिकता शराब की होम डिलीवरी है।

जिस पर कांग्रेस ने करारा पलटवार किया और लिखा’ अले ले ले ले… @HardeepSPuri जी। साहेब के प्रति आपका टुरू लव काम न आया। आपके नरेंद्र मोदी साहेब तो सीधा दारू की दुकानें खुलवा दिए। कदम बढ़ाकर उत्तरप्रदेश में देखिए कतारें लगीं हैं। ये सब लिखने, आईटी सेल के असाइनमेंट को पूरा करने से पहले जरा साहेब के कारनामे देख लिया करें..।

साहेब के प्रति आपका टुरू लव काम न आया।

आपके नरेंद्र मोदी साहेब तो सीधा दारू की दुकानें खुलवा दिए।

कदम बढ़ाकर उत्तरप्रदेश में देखिए कतारें लगीं हैं।

ये सब लिखने, आईटी सेल के असाइनमेंट को पूरा करने से पहले जरा साहेब के कारनामे देख लिया करें..

इसके अलावा पूर्व CM रमन सिंह ने ट्वीट कर फिर एक बार राज्य सरकार पर हमला बोला है, पूर्व सीएम ने राहुल गांधी को लेकर ट्वीट करते हुए कहा है कि ‘राहुल जी छग भी इसी देश का हिस्सा है, काश आपको यहां की बदहाली और अव्यवस्था दिखती। यहां टेस्टिंग के लिए लाइन, अस्पताल के लिए लाइन, ऑक्सीजन के लिए लाइन, इंजेक्शन और दवाई के लिए लाइन, वैक्सिनेशन के लिए लाइन, बस दारू ऑनलाइन है, कांग्रेस की यही पहचान है।

बता दें कि बीते 10 मई सोमवार से राज्य सरकार ने ऑनलाइन शराब ब्रिकी के लिए पोर्टल शुरू किया है, जहां एक ही दिन में 4 करोड़ 32 लाख से अधिक की शराब बुक की गई थी। लोगों की भारी डिमांड के कारण पोर्टल भी क्रैश हो गया था। हालाकि बाद में इसे ठीक कर लिया गया। सरकार के शराब होम डिलीवरी को लेकर लिए गए फैसले के बाद से ही राज्य सरकार विपक्ष के निशाने पर है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button