छत्तीसगढ़

कन्या आश्रम में परोसा गया दूषित भोजन, 27 छात्राएं अस्पताल में भर्ती

रायपुर/सुकमा: कोन्टा विकासखण्ड के बिरला कन्या आश्रम में मंगलवार को सुबह दूषित भोजन खाकर 27 छात्राएं बीमार पड़ गईं । छात्राओं को एक—एक कर कोन्टा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती कराया गया। जहां छात्राओं का इलाज जारी है। कोन्टा एसडीएम प्रदीप वैद्य ने कहा कि सभी बच्चे खतरे से बाहर हैं। तहसीलदार और बीईओ को पूरे मामले में जांच के निर्देश दिये हैं।

एसडीएम वैद्य ने कहा कि सुबह करीब 9.30 बजे ही आश्रम में भोजन किया। भोजन में आलू और गोभी की सब्जी बनी थी। खाना खाने के बाद सभी छात्राएं स्कूल चली गई। करीब एक घंटे के बाद एक—एक कर छात्राओं को पेट दर्द की शिकायत होने लगी। कुछ बच्चों को उल्टियां भी होने लगी थी। छात्राओं को तत्काल ऐर्राबोर के स्वास्थ्य केन्द्र में दाखिल कराया गया। बच्चों की बिगड़ती तबीयत को देखते हुए सीआरपीएफ के जवानों की मदद से कोन्टा अस्पताल में भर्ती कराया गया। आशंका जताई जा रही है कि दूषित गोभी की वजह से बच्चों की तबीयत बिगड़ी है।

अधीक्षिका छुटटी पर, रासोईया के भरोसे था आश्रम :
बिराला कन्या आश्रम में 60 बच्चें अध्ययनरत हैं। आश्रम अधीक्षिका कोडपी निजी कार्य से छुटटी पर हैं। पोटाकेबिन अधीक्षिका को आश्रम का प्रभार दिया गया है। वहीं सहायक अधीक्षिका सोमवार की रात से अस्पताल में है। इसके चलते आश्रम की पूरी जिम्मेदारी रासोईया पर थी।

अस्पताल में भी अव्यवस्था का आलम
दूषित भोजन खाने की वजह से बीमार पड़े छात्राओं को कोन्टा अस्पताल में भर्ती कराया गया। यहां भी अव्यवस्था का आलम देखने को मिला। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का दर्जा प्राप्त इस अस्पताल में पर्याप्त बेड नहीं हैं। एक बेड़ में तीन—तीन बच्चों को लेटाया गया, जिसके चलते बच्चों को भारी परेशानी का सामना करना.</>

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.