एसडीएम धान खरीदी केंद्रों का सतत निरीक्षण करें : कलेक्टर

.अवैध रूप से धान बेचने पर कोचियों पर होगी कड़ी कार्यवाही

मनीष शर्मा

मुंगेली।

कलेक्टर डी. सिंह ने आज कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में समस्त राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों, तहसीलदारों एवं जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों की बैठक लेकर विभागीय कामकाज की समीक्षा की।

उन्होंने सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि धान खरीदी केंद्रों का सतत निरीक्षण करें तथा अवैध रूप से धान बेचते पाये जाने पर कोचियों पर कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित करें। उन्होने राजस्व अधिकारियों की बैठक में पंचायत प्रतिनिधियों से बकाया वसूली, सोशल ऑडिट, मनरेगा के तहत कराये गये कार्यो की मजदूरी भुगतान, प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना, सांसद विधायक निधि, भू-बंटन एवं भू-अर्जन के प्रकरणों की समीक्षा की।

कलेक्टर ने सहायक आयुक्त आदिवासी से कहा कि प्रधानमंत्री आदर्श ग्रामों के लिए स्वीकृत एवं जारी राशि की जानकारी उपलब्ध करायें। उन्होने जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित किया कि जमीन संबंधी विवाद को संबंधित एसडीएम से मिलकर निराकरण करायें।

कलेक्टर डी. सिंह ने पथरिया एसडीएम को निर्देशित किया कि राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत प्राकृतिक आपदा के प्रकरणों में भुगतान सुनिश्चित करें। ग्राम बेलखुरी में विकास कार्यो के लिए स्वीकृत कार्यो एवं राशि की जानकारी उपलब्ध कराने जनपद पंचायत के सीईओ को निर्देश दिये गये।

उन्होने भू-अर्जन के अंतर्गत लंबित भू-अर्जन के प्रकरणों के निराकरण हेतु पथरिया और लोरमी के राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये। आमजनों से प्राप्त शिकायतों की जांच कर प्रकरणों के निराकरण करने हेतु निर्देश दिये।

बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी लोकेश चंद्राकर, अपर कलेक्टर राजेश नशीने, एसडीएम द्वय डॉ. आराध्या कमार एवं सीएस ठाकुर, डिप्टी कलेक्टर आरआर चुरेंद्र सहित जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी उपस्थित थे।

new jindal advt tree advt
Back to top button