कान्ट्रेक्ट फार्मिंग एक्ट किसानों के लिए एक क्रांतिकारी कदम : बृजमोहन

राज्यों के कृषि मंत्रियों की बैठक में छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल हुए शामिल

केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक।

छत्तीसगढ़ के कृषि विकास को मिली केंद्रीय कृषि मंत्री की सराहना

रायपुर : छत्तीसगढ़ के कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि, कान्ट्रेक्ट फार्मिंग एक्ट किसानों के जीवन को सुदृढ़ बनाने की दिशा में एक क्रांतिकारी कदम हैं। वे आज नई दिल्ली के विज्ञान भवन में कान्ट्रेक्ट फार्मिंग विषय पर राज्यों के कृषि मंत्रियों की बैठक में बोल रहें थें। बैठक की अध्यक्षता केन्द्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिह ने की। बैठक में केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेेन्द्र सिंह शेखावत और पुरषोत्तम रूपाला व राज्यों से आये कृषि मंत्रीगण भी उपस्थित थें।

अग्रवाल ने कहा कि, किसानों को उनकी उपज का सही मूल्य दिलाने के साथ-साथ ,उनको अच्छा बाजार मिल सकें इसके लिए कान्ट्रेक्ट फार्मिंग आवश्यक हैं। छत्तीसगढ़ में मंडी एक्ट में कान्ट्रेक्ट एक्ट को शामिल किया गया हैं। कान्ट्रेक्ट फार्मिंग एक्ट में एग्रीमंट के साथ-साथ विवादों का निपटारा भी जिले स्तर पर होगा, ऐसे प्रावधान किये गये हैं। राज्यों में मंडी शुल्क में भी कान्ट्रेक्ट फार्मिंग एक्ट के तहत छूट दे दी गई हैं।

अग्रवाल ने राज्य में किसानों को सशक्त करने व कृषि को उन्नत बनाए जाने की दिशा में राज्यशासन के प्रयासो की भी विस्तार से जानकारी दी। इस बैठक में राधामोहन सिंह ने छत्तीसगढ़ के कृषि विकास को सराहा। उन्होंने कहा कि जिस तेजी के साथ कृषि योजनाओं का क्रियान्वयन छत्तीसगढ़ में हो रहा है वह अन्य राज्यों के लिए प्रेरणादायक है।

advt
Back to top button