शासकीय स्कूल के बोरवेल पर ठेकेदार का कब्जा, पानी मांगने पर मिलती है धमकी

राजशेखर नायर:

नगरी: वनांचल विकासखंड नगरी के एकमात्र सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल में जब से आदिवासी छात्रावास का निर्माण कार्य किया जा रहा है तब से स्कूल प्रशासन को आये दिन परेशानी झेलना पड़ रहा है।

स्कूल का बोरवेल को निर्माणकर्ता अपने कब्ज़ा में कर लिया गया है। और उसी बोरवेल से आज पर्यन्त अपना निर्माण कार्य निपटाया जा रहा है। स्कूल को पानी अपने हिसाब से जब मन पड़ता है तब देते है, जिस कारण स्कूली बच्चों को कभी 2 बजे तो कभी 3 बजे तक भूखा रहना पड़ता है।

रसोईयों द्वारा समय पर पानी मांगने से अभी काम है बाद में देंगे करके धमका दिया जाता है जिससे महिला रसोईया डर कर पानी देने का इंतजार करते रहते है जिसके कारण आये दिन बच्चों को मध्यान्ह भोजन तय समय मे नही मिल पाता।

उक्त समस्या को देखते हुए पालक समिति के बैठक में छात्रावास निर्माण कार्य मे लगे मुंशी को बुलाया गया तो उसने 5 दिन के अंदर अंडर ग्राउंड पाईप डलवाने का वायदा किया गया था पर आज 2 माह बीत जाने के बाद भी उनके द्वारा पाईप नही डाला गया।

स्थिति ये हो गयी है कि शिक्षकों को स्कूल आकर प्रार्थना के बाद सबसे पहले पानी के लिए रोज माथापच्ची करना पड़ रहा है। उच्चाधिकारियों को इस बाबत कई बार लिखित में जानकारी देने के बाद भी किसी तरह का उचित समाधान नही निकाला गया जिससे पालकों में काफी रोष है और उनका यह तक कहना है कि जब स्कूल में अतिआवश्यक सुविधाओं को नही दे पा रहे है तो स्कूल को बंद कर दे।

Back to top button