छत्तीसगढ़

सभी धान खरीदी केंद्रों में इलेक्ट्रानिक तौल की होगी सुविधा: भीम सिंह

धान की तौलाई में किसान पूरी तरह से पारदर्शिता का अनुभव कर सकें एवं समय भी कम लगे, इस सुविधा के दृष्टिकोण से जिले के सभी धान खरीदी केंद्रों में इलेक्टानिक तौल की सुविधा उपलब्ध होगी।

खरीदी केंद्रों में किसानों के लिए सभी आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध होगी और ऐसी व्यवस्था बनाई जाएगी जिससे किसानों को देर तक इंतजार न करना पड़े। धान खरीदी एवं अन्य विषयों पर आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में हुई बैठक में सांसद श्री अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया। सांसद श्री सिंह ने धान खरीदी की तैयारियों की जानकारी जिला प्रशासन से ली।

कलेक्टर श्री भीम सिंह ने बताया कि धान खरीदी का लाभ हकदार किसानों को ही मिले, इसके लिए प्रशासन ने पुख्ता व्यवस्था की है। खरीदी केंद्रों में टेबलेट के माध्यम से वाहनों की एंट्री के वक्त वाहन के फोटोग्राफ, गाड़ी का नंबर, चालक तथा सारे विवरण दर्ज किए जाएंगे। यह ऑनलाइन होगा और सारे प्रदेश में दिखेगा। इससे फर्जीवाड़े पर अंकुश लगेगा।

फर्जीवाड़े को रोकने सीमावर्ती राज्यों से लगे संग्रहण केंद्रों में फ्लाइंग स्क्वॉड की नजर रहेगी। सांसद श्री सिंह ने कहा कि धान खरीदी केंद्रों में किसानों की धान खरीदी जल्दी हो सके, इसके लिए हर केंद्र में इलेक्ट्रानिक तौल की सुविधा भी दी जाए। चूँकि इस बार पारदर्शिता के लिए टेबलेट का उपयोग किया जा रहा है इसलिए हर सेंटर की कनेक्टिविटी की स्थिति पर नजर रखें।

उन्होंने बारदानों की पर्याप्त व्यवस्था करने तथा फड़ के विस्तार की व्यवस्था की बात भी कही। कलेक्टर ने बताया कि बारदानों की किसी तरह की दिक्कत नहीं आएगी। खरीदी केंद्रों तक एप्रोच रोड ठीक हैं। बिजली-पानी जैसी बुनियादी सुविधाएँ खरीदी केंद्रों में सुनिश्चित की गई हैं।

नागरिक आपूर्ति निगम के पूर्व अध्यक्ष एवं विधायक प्रतिनिधि श्री लीलाराम भोजवानी ने कहा कि धान खरीदी से जुड़े हुए सभी शासकीय अमलों में जितना बेहतर समन्वय होता है उतने बेहतर तरीके से सोसायटी में धान खरीदी हो पाती है। टोकन सिस्टम से किसानों को लगने वाले समय में निश्चित ही कमी आएगी।

सांसद ने किसानों को फसल बीमा का लाभ देने के लिए किए जा रहे उपायों की जानकारी भी ली। कलेक्टर ने बताया कि क्राप कटिंग आरंभ हो गई है। जिले के एक लाख उन्यासी हजार किसानों ने फसल बीमा कराया है। ग्राम सभा के माध्यम से किसानों को जानकारी दी गई है कि उन्हें किस प्रकार फसल बीमा का लाभ मिल पाएगा।

सांसद ने कहा कि फसल बीमा और बोनस से किसानों को सूखे से होने वाली अनुमानित क्षति से राहत मिल जाएगी। बैठक में सांसद ने सूखा राहत के लिए राजस्व अमले को 15 नवंबर तक सूखा सर्वे का कार्य समाप्त करने के निर्देश दिए।

बैठक में सांसद ने सौभाग्य योजना की समीक्षा भी की। उन्होंने टोहे ग्राम में राशन कार्ड निरस्त किए जाने के संबंध में की गई शिकायत के संबंध में खाद्य विभाग को निर्देशित किया। उन्होंने विकासखंड मानपुर के कुछ गांवों में बिजली की व्यवस्था दुरूस्त करने के निर्देश भी दिए।

बैठक में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्री भरत वर्मा, अपर कलेक्टर श्री जेके धु्रव, संयुक्त कलेक्टर श्री एमडी तिगाला, सुश्री रेणुका श्रीवास्तव एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।

Summary
Review Date
Reviewed Item
धान की तौलाई
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *