मुख्यमंत्री के निर्देश पर सहकारी बैंक अधिकारी निलंबित

रायपुर:  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां मंत्रालय में कृषि और सहकारिता विभाग की समीक्षा बैठक में सरगुजा जिले में वर्ष 2016-17 में अल्पकालीन और कालातीत कृषि ऋणों की कम वसूली पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने इस कार्य में लापरवाही बरतने वाले अधिकारी के विरूद्ध निलंबन की कार्रवाई के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के निर्देश का तत्काल पालन किया गया और ऋण वसूली में घोर लापरवाही के आरोप में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक सरगुजा (अम्बिकापुर) के प्रधान कार्यालय के सहायक मुख्य पर्यवेक्षक राजेन्द्र प्रसाद पाण्डेय को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। उनका निलंबन आदेश जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक अम्बिकापुर के प्रधान कार्यालय के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा जारी किया गया। निलंबन अवधि में राजेन्द्र प्रसाद पाण्डेय का मुख्यालय बैंक की लखनपुर शाखा में निर्धारित किया गया है। उन्हें बैंक कर्मचारी (नियोजन, निबंधन एवं उनकी कार्य स्थिति) नियम 1982 के प्रावधानों के तहत जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित आज की समीक्षा बैठक में सहकारिता विभाग की ओर से बताया गया कि जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक सरगुजा (अम्बिकापुर) की सहकारी समितियों में एक जुलाई 2016 से 31 मई 2017 तक 350 करोड़ 71 लाख रूपए के अल्पकालीन ऋणों के विरूद्ध सिर्फ 133 करोड़ 82 लाख रूपए की वसूली हो पाई है। कुल मांग के विरूद्ध यह वसूली 38.16 प्रतिशत है। इसी अवधि में कालातीत ऋण राशि 176 करोड़ 35 लाख रूपए में से केवल 15 करोड़ 22 लाख रूपए वसूल किए गए हैं और वसूली सिर्फ 8.63 प्रतिशत है। मुख्यमंत्री ने इस पर अप्रसन्नता व्यक्त की।

Back to top button