उत्तर प्रदेश

उप्र में कोरोना का कहर, प्रदेश के 13वें मंत्री निकले पॉजिटिव

इस बार सिद्धार्थ नाथ सिंह हुए संक्रमित

लखनऊ : मालूम होता है कि कोरोना वायरस संक्रमण का सबसे ज्यादा असर उत्तर प्रदेश के मंत्रियों पर हो रहा है। पिछले कुछ दिनों में यूपी सरकार के 13वें मंत्री के तौर पर सिद्धार्थ नाथ सिंह भी अब कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं।

ट्वीट करके बताया

कोरोना वायरस से संक्रमित कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने खुद ट्वीट करके इसकी जानकारी की। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण इस कदर फैल गया है कि नेता-राजनेता भी इससे अछूते नहीं हैं। हर रोज कोई न कोई नेता-राजनेता इसकी चपेट में आ रहे हैं। गुरुवार को यूपी सरकार के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए।

हो रहे हैं होम आइसोलेट

उन्होंने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। सिद्धार्थ नाथ सिंह ने लिखा कि कोरोना के शुरुआती लक्षण दिखने पर मैंने टेस्ट करवाया और रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मेरी तबीयत ठीक है और डॉक्टर्स की सलाह से मैंने खुद को होम आइसोलेट कर लिया है। मेरा अनुरोध है कि आप में से जो भी लोग गत कुछ दिनों में मेरे संपर्क में आए हैं, कृपया स्वयं अपनी जांच करवा लें।

अब तक कोविड की गिरफ्त में आ चुके यूपी के मंत्रिगण

बता दें कि पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह चौधरी की रिपोर्ट भी बुधवार को कोरोना पॉजिटिव आई थी। इनसे पहले प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्यमंत्री चौधरी उदयभान सिंह भी कोरोना पॉजिटव पाए गए थे। उन्हें लखनऊ में स्थित संजय गांधी पीजीआई में भर्ती करवाया गया था।

स्वास्थ्य राज्यमंत्री अतुल गर्ग, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, ग्राम्य विकास मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह, विधि एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक, जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह, आयुष राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) धरम सिंह सैनी, रघुराज सिंह शाक्य तथा खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेंद्र तिवारी कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। इन सभी का इलाज हो रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार के दो मंत्रियों कमल रानी वरुण और चेतन चौहान की कोरोना संक्रमण के कारण मौत हो चुकी है।

प्रयागराज में खलबली

बता दें कि कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह बुधवार को प्रयागराज में थे और कई सड़कों के लोकार्पण समारोह में शामिल भी हुए थे। जहां कई पार्टी पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक अफसरों की मौजूदगी थी। बल्कि कहें कि पिछले कई दिनों में मंत्री महोदय कई कार्यक्रमों और बैठकों को संबोधित कर चुके हैं। ऐसे में उन सभी के लिए खतरा पैदा हो गया है, जो पिछले कुछ दिनों में उनके संपर्क में आ चुके हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button