छत्तीसगढ़

कोरोना संक्रमित मरीजों का किरोड़ीमल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी में होगा इलाज

कलेक्टर भीम सिंह ने परिसर का लिया जायजा

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

  • इलाज के लिये 300 बेड की तैयारी के दिये निर्देश

रायगढ़, 12 अगस्त2020:  कलेक्टर भीम सिंह ने जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि को ध्यान में रखते हुये आज शहर के समीप केआईटी (किरोड़ीमल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नालॉजी)परिसर में कोविड अस्पताल बनाये जाने हेतु 300 बेड तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने केआईटी परिसर के मुख्य भवन तथा अध्यापन कक्ष में सभी आवश्यक सुविधा सहित 300 बेड की व्यवस्था किये जाने के निर्देश दिये।

कलेक्टर सिंह ने भवन में पूरे परिसर की साफ-सफाई तथा पानी की आपूर्ति के लिये नगर निगम के अधिकारियों को तथा भवन में डॉक्टर, नर्सेस तथा संक्रमित मरीजों के लिए अलग-अलग शौचालय तथा स्नानगृह तैयार करने की जिम्मेदारी लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को सौंपते हुये दो दिनों के भीतर सभी कार्य पूर्ण करने को कहा। केआईटी प्रबंधन द्वारा जानकारी दी गई कि भवन में सीसीटीवी कैमरे लगे हुये है।

कलेक्टर सिंह ने 

कलेक्टर सिंह ने सभी सीसीटीवी कैमरे और लाईट, पंखे सहित सभी विद्युत उपकरणों की जाचं कर चालू करने के निर्देश दिये ताकि यहां इलाज के लिये आने वाले मरीजों को किसी प्रकार की परेशानी न हो।

कलेक्टर सिंह ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.एस.एन.केशरी को सारंगढ़ क्षेत्र के ग्राम छोटे खैरा में जहां सर्वाधिक संख्या में कोरोना संक्रमित मरीज पाये गये है वहां विशेष कैम्प का आयोजन कर गांव के बच्चों, बुजुर्ग सहित सभी लोगों के सेम्पल प्राप्त कर जांच कराये जाने के निर्देश दिये।

उन्होंने रायगढ़ शहर में सेम्पलों की जांच का दायरा बढ़ाने और कन्टेमेन्ट क्षेत्र के निवासियों तथा छोटे-छोटे व्यवसायी, शासकीय कार्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों तथा अन्य कारोबार से जुड़े लोगों का रेण्डम सेम्पल एकत्र कर जांच कराने के निर्देश दिये, इसी प्रकार कोरोना संक्रमण के प्रारंभिक लक्षण दिखाई देने वाले सर्दी, खांसी, और बुखार जैसे लक्षण पाये जाने वाले व्यक्तियों तथा संक्रमित पाये गये मरीजों के प्रायमरी कान्टेक्ट में आने वाले व्यक्तियों की भी सेम्पल जांच करने को कहा।

इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ  ऋचा प्रकाश चौधरी, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एवं चिकित्सक तथा आदिवासी विकास विभाग एवं लोक निर्माण विभाग तथा केआईटी प्रबंधन के अधिकारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button