देश में घटा कोरोना संक्रमण, पिछले सात दिनों में 30 फीसद कम हुए मामले

70 दिन बाद सक्रिय मामले नौ लाख से कम हुए हैं।

वैश्विक हालात की तुलना में भारत में कोरोना महामारी की स्थिति में तेज सुधार हो रहा है। इसका अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि पिछले सात दिनों में भारत में संक्रमण के मामलों में 30 फीसद की कमी आई है, जबकि इस दौरान दुनिया भर में मात्र छह फीसद ही मामले कम हुए हैं। यही हाल कोरोना महामारी से होने वाली मौतों को लेकर भी है। बीते सात दिनों में भारत में मौतों में 35 फीसद की कमी आई और दुनिया में मात्र 10 फीसद की। वर्ल्डोमीटर के आंकड़ों के मुताबिक पिछले सात दिनों में भारत में कुल 5,44,085 केस पाए गए और 12,647 लोगों की जान गई, जबकि उसके पहले के सात दिनों में 7,81,293 मामले मिले थे और 19,397 मौतें हुई थीं।

इसकी तुलना में दुनिया भर में बीते सात दिनों में 26,41,596 केस मिले और 61,393 मौतें हुईं, जबकि उससे पहले के सात दिनों में 28,17,596 मरीज सामने आए थे और 68,069 लोगों की मौत हुई थीं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देश में लगातार 34 दिनों से नए मामलों की तुलना में ज्यादा मरीज ठीक हो रहे हैं। इसके चलते सक्रिय मामलों की संख्या भी घटकर नौ लाख से नीचे आ गई है। 70 दिन बाद सक्रिय मामले नौ लाख से कम हुए हैं।

बीते 24 घंटे के दौरान सक्रिय मामलों में 47,946 की कमी आई है। एक्टिव केस कुल संक्रमितों का 2.92 फीसद रह गए हैं। मरीजों के उबरने की दर बढ़कर 96 फीसद के करीब पहुंच गई है। भारत बायोटेक ने कहा कि उसने भारत सरकार के माध्यम से नौ राज्यों और 16 राज्यों को सीधी खरीद प्रक्रिया के तहत कोवैक्सीन की आपूर्ति की है।

भारत बायोटेक की सह संस्थापक और संयुक्त प्रबंध निदेशक सुचित्रा इला ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि इन राज्यों को आठ से 14 जून के बीच वैक्सीन की सप्लाई की गई है। नौ राज्यों में आंध्र प्रदेश, असम, दिल्ली, गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और तेलंगाना शामिल हैं। जबकि, 16 राज्यों में असम, बिहार, छत्तीसगढ़, दिल्ली, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना, त्रिपुरा, उत्तराखंड और बंगाल शामिल हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button