छत्तीसगढ़

कोरोना अपडेट: बलौदाबाजार में 13 नये मरीज़ों की पहचान,7 मरीज हुए स्वस्थ

कोविड से निधन होने पर शवो के प्रबंधन हेतु नोडल अधिकारी तय

बलौदाबाजार, 28 जुलाई 2020 : जिले में कल देर कोरोना के 13 नये मरीज़ों की पहचान की गई है। जिसमें 10 मरीज पलारी नगर से एवं 1 मरीज़ कसडोल नगर से है। अन्य 2 मरीज गाँवो से है जिसमें 1 मरीज पलारी विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम रोहांसी एवं 1 मरीज कसडोल विकासखण्ड के अंतर्गत ग्राम छाछी से सम्बंधित हैं। इन सभी मरीजों की पुष्टि जिला प्रशासन की ओर से किया गया हैं।

जिला मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ खेमराज सोनवानी ने बताया की सभी मरीजों को कल देर रात ही जिला कोविड हॉस्पिटल में लाने के लिए एम्बुलेंस को रवाना कर दी गई हैं। सभी मरीज़ों को मिलाकर जिले में कोरोना संक्रमित मरीज़ों की संख्या बढ़कर 355 तक पहुंच गई है।इनमें से इलाज़ के बाद 308 मरीज़ स्वस्थ हो गए हैं। इस प्रकार एक्टिव मरीजों की संख्या 46 ही रह गयी हैं। इसके साथ ही आज जिला कोविड हॉस्पिटल से 7 मरीज़ स्वस्थ होकर घर लौट गये हैं।

कोविड से निधन होने पर शवो के प्रबंधन हेतु नोडल अधिकारी तय

कोरोना से संक्रमित मरीजों की निधन होने पर उनके शवो के प्रबंधन हेतु आज जिला कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने नोडल एवं प्रभारी अधिकारियों की नियुक्त किया गया हैं। जिला मुख्यालय के लिए नोडल अधिकारी जिला पंचायत सीईओ डॉ फ़रिहा आलम सिद्की एवं प्रभारी अधिकारियों में सँयुक्त कलेक्टर इंदिरा देवहारी एवं स्वास्थ्य विभाग से जिला सर्विलेंस अधिकारी के रूप में रहैंगे।

विकासखंड स्तर के लिये सभी सम्बंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सह इंसीडेंट कमांडर नोडल अधिकारी एवं प्रभारी अधिकारी नगरीय क्षेत्रों में सम्बंधित सीएमओ एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कार्यपालिक दंडाधिकारी तहसीलदार,स्वास्थ्य विभाग से बीएमओ होंगे। जिले के बाहर निधन होने दशा में नोडल अधिकारी जिला पंचायत सीईओ एवं प्रभारी अधिकारियों सँयुक्त कलेक्टर इंदिरा देवहारी एवं स्वास्थ्य विभाग से जिला सर्विलेंस अधिकारी के रूप में होंगे। इनके निर्देश पर शवो के लिये अंतिम संस्कार शव गृह एवं क्रबिस्तान का चिन्हांकन सुनिश्चित करेंगें। शवो का परिवहन राज्य सरकार के द्वारा जारी गाइडलाइंस के अनुसार होगा एवं इनका खर्च का वहन एसडीआरएफ तहत प्रशासन करेगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button