राष्ट्रीय

राजधानी मुंबई में पुरुषों से ज्यादा महिलाएं लगवा रही कोरोना का टीका

6 फरवरी से पुलिस के जवानों के टीकाकरण की मुहिम शुरू की गई

मुंबई:देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में स्वास्थ्यकर्मियों व फ्रंटलाइन वर्करों में से 52 फीसदी महिलाओं और 48 फीसदी पुरुषों ने कोरोना का टीका लगवाया है। मुंबई महानगर कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित था। इसने साल 2020 से मुंबई के सार्वजनिक जीवन को पूरी तरह से बाधित कर दिया था, लेकिन कोविड-19 का टीका उपलब्ध होने के बाद टीकाकरण में तेजी आ गई है।

मुंबई में पहले और दूसरे चरण के लिए 23 टीकाकरण केंद्रों में 125 बूथों में टीकाकरण किया जा रहा है, जिसे आवश्यकता अनुसार धीरे-धीरे बढ़ाया जा रहा है। कोविन टीकाकरण से पता चलता है कि पुरुषों की अपेक्षा महिलाएं ज्यादा टीका लगवा रही हैं।

पहले टीके पर संदेह था, इसलिए डरते थे बीएमसी के अनुसार पहले लोग टीके पर संदेह के कारण इसे लगवाने से डरते थे, लेकिन अब फ्रंटलाइन वर्कर आगे आकर टीके लगवा रहे हैं। बीएमसी को 13 जनवरी 2021 में टीके की पहली खेप प्राप्त हुई थी। उसके बाद से अब तक बीएमसी को 532,100 टीके प्राप्त हो चुके हैं।

मुंबई में भी 16 जनवरी, 2021 से टीकाकरण शुरू किया गया था। इसके बाद से 12 फरवरी 2021 तक, 1,7,7251 लाख से अधिक लाभार्थियों को टीका लगाया जा चुका है। इनमें 87,416 स्वास्थ्य कर्मी और 20,309 फ्रंटलाइन वर्कर शामिल हैं।

वहीं, 6 फरवरी से पुलिस के जवानों के टीकाकरण की मुहिम शुरू की गई है। टीकाकरण के बाद इनमें से किसी भी लाभार्थी पर कोई गंभीर प्रतिकूल प्रभाव नहीं पाया गया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button